देश भक्ति दोहे :- देश प्रेम से सम्बंधित दोहे | Desh Bhakti Status In Hindi

देश भक्ति पर कवितायें और शायरियाँ तो बहुत पढ़ी होंगी आपने। इस बार हम आपके लिए लाये हैं कुछ अलग। ये हैं देश भक्ति दोहे । तो आइये पढ़ते हैं देश भक्ति दोहे :-

देश भक्ति दोहे

देश भक्ति दोहे

1.

है सपूत जो देश के, मैं उनका हुआ मुरीद।
कुछ तो सरहद पर खड़े, कुछ हो गए शहीद।।


2.

मेरे भारत देश की, गाथा बड़ी महान।
इसीलिए गाता है महिमा, इसकी सारा जहान।।


3.

अतिथि देवो भवः कहें, दुश्मन को दें दंड।
भारत जितना निर्मल है, उतना ही प्रचंड।।


4.

राम रहीम की धरती है ये, यहाँ आरती और अजान।
आपस में सब मिलकर रहें, सबका करते सम्मान।।



5.

भारत ही है देश मेरा, भारत ही मेरा धर्म।
धरती पर जब भी मैं आऊँ, यहीं दे इश्वर जन्म।।


6.

बैरी जो कोई कदम बढ़ाए, उसको भेजें श्मशान।
धन्य हैं वो जो सरहद पर, खड़े हैं वीर जवान।


7.

ऐसी पावन धरा यहाँ की, कर देती सबका उद्धार।
हर दिन एक नया उत्सव, होता है हर दिन त्यौहार।।


8.

अपने वीर सपूत को माँ देती सदा आशीष।
देश पर आंच कभी ना आये, कट जाए चाहे शीश।।


9.

भारत की पावन धरती से, ले धुल मैं तिलक लगाऊं।
इतना प्यारा देश है मेरा, मैं नित दिन महिमा गाऊं।।


पढ़िए :-  देश भक्ति पर कवितायें


10.

महाराणा प्रताप से राजा, लक्ष्मी बाई जैसी रानी।
घर-घर में सुनाई जाती, ऐसे वीरों की कहानी।।



11.

पला-बढ़ा और बड़ा हुआ, इस देश में लेकर जन्म।
सच्चा देशभक्त है वही, हो देश ही जिसका धर्म।।


12.

सारे जग से है ये न्यारा, विजयी विश्व तिरंगा प्यारा।
यही तो शान हमारी है, यही है अभिमान हमारा।।


13.

सरहद पर हैं खड़े हुए, बनके देश की ढाल।
नित्य नयी हैं जंग लड़ते, भारत माता के लाल।।


14.

सारा जग जो घूम लिया, मिला एक ही ज्ञान।
इतना प्यारा कोई देश नहीं, जैसा है हिन्दुस्तान।।


15.

चाहे तपती धूप हो, चाहे हो शीतल रात।
देश की सेवा में रहें, जवान सदा तैनात।।


पढ़िए कविता :- ये हमारा हिंदुस्तान है।

देश भक्ति दोहे के बारे में अपने विचार कमेंट बॉक्स में लिख कर हम तक अवश्य पहुंचाएं।

धन्यवाद।

अभी शेयर करे
WhatsAppFacebookTwitterGoogle+BufferPin It

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

3 Comments

  1. Avatar Sher SinGh rao

Add Comment