देश भक्ति शेरो शायरी :- देश भक्ति पर शायरी | Patriotic Quotes In Hindi

देश प्रेम एक ऐसी भावना जो हम सब में बराबर मात्रा में होती है। लेकिन अफ़सोस आज हम सिर्फ 15 अगस्त और 26 जनवरी को ही देश भक्ति की भावना से ओत प्रोत हो जाते हैं। बाकी दिनों का क्या? हमें अपने दिल में देश भक्ति की भावना हर पल मौजूद रखनी चाहिए। हम भी चाहते हैं कि हर देशवासी हर पल अपने दिल में ये बात रखे कि हमें ये देश शहीदों की कुर्बानियों के कारन मिला है और सरहद पर खड़े जवान की वजह से सुरक्षित है। इसी क्रम में प्रस्तुत है शहीदों, जवानों और देश को समर्पित :- ‘ देश भक्ति शेरो शायरी

देश भक्ति शेरो शायरी

देश भक्ति शेरो शायरी

1.
मिटा दिया है वजूद उनका जो भी इनसे भिड़ा है,
देश की रक्षा का संकल्प लिए हर जवान सरहद पर खड़ा है।


2.
यहाँ आरती है अज़ान है, हिन्दू हैं मुसलमान हैं,
है गर्व मुझे इस देश पर क्योंकि ये मेरा हिन्दुस्तान है।


3.
आजाद, भगत सिंह जैसे, इस देश में जन्में वीर यहाँ,
कुर्बानी की इनकी गाथाएं गाता है ये सारा जहाँ।


4.
भ्रष्टाचार, बेरोजगारी जैसे पापों का जब पतन होगा,
हो जाएगा खुशहाल ये जीवन खुशहाल ये मेरा वतन होगा।



5.
हाथ जोड़कर नमन जो करते, मत समझो कमजोर हैं हम
उठाओ कथायें इतिहास की तो छाये हुए हर ओर हैं हम।


6.
सच्चाई की राह पर चलते, नहीं मन में कोई बुरी भावना
उन्नत हो ये देश हमारा, अपनी तो बस यही कामना।


7.
हर रोज नया दिन, हर रोज नया पर्व है,
विविधताओं से भरे इस देश पर मुझे गर्व है।


8.
उत्तर में है खड़ा हिमालय, दक्षिण में सागर मचल रहा,
पूरब से सूरज निकला देखो, पश्चिम प्रगति में बदल रहा।


9.
न तीर से न तलवार से हम समझाएं पहले प्यार से हम,
जो टकराता है फिर भी हमसे, मिटा दें उसको पहले वार से हम।


10.
सारा संसार ये जानता है हमारी जो भी पहचान है,
संस्कृत से संस्कृति हमारी हिंदी से हिन्दुस्तान है।



11.
गद्दार थे वो लोग जिन्होंने सरहद पर रेखा खींची है,
यूँ ही नहीं मिली आज़ादी हमको, इसे शहीदों ने खून से सींची है।


12.
जन्म लिया जिस देश में मैंने. ह्रदय से उसको नमन हो,
ख्वाहिश बस इतनी है मुझको, मरते वक़्त तिरंगा मेरा कफ़न हो।


13.
पूरा सम्मान वो पाएगा, मेहमान जो बन कर आएगा,
जो आँख उठी दुश्मन की तो, मिटटी में मिलाया जाएगा।


14.
ऐसा देश नहीं है कोई जिसने यह रीत अपनाई है,
देश को कहते माता और लोगों को कहते भाई हैं।


15.
ऐसा सुकून कहीं नहीं मिलता चाहे घूमो सारा जहान,
दिल में एक नाम जो धड़के, वो है अपना हिन्दुस्तान।



पढ़िए: देशभक्ति पर छोटी कविताएँ

इस शायरी संग्रह का विडियो यहाँ देखिये :-

देश भक्ति शेरो शायरी ‘ के बारे में अपनी राय जरूर दें। यदि आप भी ऐसा कुछ लिखने का शौंक रखते हैं तो लिख भेजिए हमें अपनी रचना। आपकी रचना उत्तम होने पर जल्द ही ब्लॉग में प्रकाशित की जायेगी।  

धन्यवाद।

पढ़िए देशभक्ति पर और बेहतरीन रचनाएँ :-

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

Sandeep Kumar Singh

Sandeep Kumar Singh

ये कविताएं, शायरियां और कुछ विचार मेरी खुद की रचनाएं हैं। कुछ नकलची बंदरों ने इन्हें चुरा कर अपने ब्लॉग पर डाल लिया है। असली रचनाएं यहीं हैं। आशा करता हूँ कि यदि आप ये रचनाएं कहीं शेयर करते हैं तो हमारे ब्लॉग का लिंक साथ मे जरूर दें। मैं एक अध्यापक हूँ और अपने इस ब्लॉग क लिए खुद ही लिखता हूँ। धन्यवाद।

You may also like...

28 Responses

  1. अमित कुमार सिंह कहते हैं:

    Very nice shyri

  2. Sk chauhan कहते हैं:

    मुझे भी लिखने का शौक है ठहरा जो सीमा प्रहरी ।क्या फायदा इस छपने से दास्तान मे री गहरी।।। धन्यवाद

  3. Akhilesh kumar कहते हैं:

    I like your shayree very much.

  4. Aayush कहते हैं:

    Very nice it is helpful for me
    Thanks

  5. Devendra कहते हैं:

    जय हिंद
    किसी हिन्दू की नही किसी मुस्लिम की नही है
    है हिन्द जिसका नाम शहीदों की ज़मीं है

  6. Ankit kumar कहते हैं:

    भारत की आजादी की कभी शाम नही होने देगे
    शहीदो की कुर्बानी को बदनाम नही होने देगे
    जब तक शरीर मे लहु है
    भारत मां की आचल को
    फिर से
    गुलाम नही होने देगे ।

  7. sohan lal कहते हैं:

    मेरा देश महान सभी भाइयो से मेरा निवेदन है इंसान अपने बारे में ही सोचता है परंतु देश के बारे में कोई नहीं सोचता आज हमारा देश पीछे है क्योंकि आज हम सब पीछे आज हमारे देश में इतना भ्रष्टाचार है क्योंकि हमारा मन भ्रष्ट हो गया है यदि हम देश को महान बनाना चाहते हैं तो पहले खुद को महान बनना पड़ेगा हर मानव से मेरा निवेदन है वह अपना भला नहीं सोचे सबका भला सोचे पड़ोसी का भला सोचे मोहल्ले का भला सोचते नगर का भला सोचे इस तरह सोचोगे तो देश अपने आप बढ़ जाएगा और हमको हमारे देश का करबू क्योंकि यह हमारा देश भारत महान है वंदे मातरम मेरा भारत महान जय हिंद

    • Sandeep Kumar Singh Sandeep Kumar Singh कहते हैं:

      सोहन लाल जी विचार तो आपके बहुत उत्तम हैं परन्तु इसकी शुरुआत हमें खुद से करनी पड़ेगी। यदि हम सब का भला करेंगे तभी दुसरेसे भले की अपेक्षा करना सही है। औरदेश तभी आगे बढेगा जब सब एक साथ आगे बढ़ेंगे। धन्यवाद।

प्रातिक्रिया दे

हमें ख़ुशी है की हमारे लेख के बारे में आप अपने विचार देना चाहते है, परन्तु ध्यान रहे हम सारे कमेंट को हमारे कमेंट पालिसी के आधार पर स्वीकार करते है।