Category: जीवन पर कविताएँ

जीवन पर कविताएँ, ज़िन्दगी क्या है?

जिंदगी के अलग-अलग रंगों को और कभी धूप कभी छाँव से भरी जिंदगी पर कविताएँ।
भावनाओं और रिश्तों के संग समाज के अच्छे और बुरे रंगों को दिखाती कविताएँ ।
कविता जीवन पर।

जिंदगी पर कविता

जिंदगी पर कविता :- न जाने आज किस ओर जा रही है जिंदगी

जिंदगी पर कविता में पढ़िए कैसे जिंदगी हमें हर पल कुछ न कुछ दिखाती रहती है। कभी हंसाती है। कभी रुलाती है। कभी तो ऐसा लगता है मानो हमारी मर्जी...

उम्र पर कविता

उम्र पर कविता :- रेत सी फिसलती है | उम्र के बारे में कविता

उम्र पर कविता में पढ़िए कैसे बीत जाती है उम्र फिसलती रेत की तरह और हमें बीती हुयी उम्र यूँ लगती है जैसे अभी कल ही निकली हो। उन्हीं बीतें...

इंसानियत पर कहानी

कल आज और कल पर कविता :- जीवन के पलों के बारे में कविता

कल आज और कल पर एक ऐसी कविता जो बता रही है कि किस तरह हमें आज कल की बीती बातें छोड़ कर आने वाले कल को सुधारने का प्रयास...

लक्ष्य की खोज

लक्ष्य की खोज :- व्यथित हृदय की भावनाओं को व्यक्त करती कविता

जब जीवन में हर तरफ निराशा ही फैली हो और सब साथ छोड़ने लगें। तब मन में एक अलग सी भावना जन्म लेती है। उन्हीं परिस्थितियों और सोच को बता...

लक्ष्य पर कविता

लक्ष्य पर कविता :- मुसाफिर हूँ मैं यारों | जीवन में बदलाव की कविता

जीवन में अपने वजूद की तलाश में निकले हुए एक इन्सान की कविता। जिसका लक्ष्य अब सिर्फ अपनी पहचान दुनिया के सामने लाना है। लक्ष्य पाने के लिए सबसे जरूरी...

अंतर्मन की व्याख्या

अंतर्मन की व्याख्या :- अपने अन्दर ही खुद की तलाश पर हिंदी कविता

कई बार हमारे जीवन में ऐसा पड़ाव आता है कि हम अपना बीता हुआ कल देख अपने भविष्य के बारे में चिंता कारने लगते हैं। ऐसे समय में हम अपने...