प्रेम विरह कविता

प्रेम विरह कविता :- तड़पने लगा हूँ खुद में मैं | प्रेम वियोग कविता

एक प्रेमी के हृदय की तड़प को शब्दों में व्यक्त करती कविता ‘ प्रेम विरह कविता ‘ प्रेम विरह कविता तड़पने लगा हूँ खुद में मैं निकलने लगी चिंगारी है।...

असफलता से सफलता तक

असफलता से सफलता तक :- गलतियों से सीखने की प्रक्रिया

जीवन में गलतियां किस से नहीं होती? मुझे नहीं लगता कि ऐसा होगा जिसने जीवन में कभी कोई गलती न की हो। ज्यादातर लोग गलतियाँ कर उसे छिपाने का प्रयास...

प्रेरणादायक लघु कहानी

प्रेरणादायक लघु कहानी :- जिन्दगी के चिड़ियाघर में कैद इन्सान की कहानी

ये कहानी उन लोगों के लिए है जो अक्सर ही कहते हैं कि मुझे ये आता है, मुझे वो भी आता है लेकिन अपने आराम को छोड़ कर मेहनत का...

सुबह पर बाल गीत

सुबह पर बाल गीत :- देखो प्रभात हो आई है | बालगीत इन हिंदी

एक बच्चे के सुबह आलस्य की वजह से न उठने पर उसे उठाने के लिए लिखा गया बाल गीत ” सुबह पर बाल गीत ” :- सुबह पर बाल गीत...

मित्रता पर दोहे

मित्रता पर दोहे :- मित्रता संबंधी 10 दोहे | मित्रता दिवस पर दोहे

जीवन में मित्र का होना बहुत जरूरी है। एक मित्र ही होता है जिसके साथ हम बहुत कुछ बाँट सकते हैं। जो हमारे कई राजों का राजदार होता है। वो...

छोटी हास्य हिंदी कविताएँ

छोटी हास्य हिंदी कविताएँ :- भालू की सगाई और भालू की शादी

क्या होता अगर भालू का भी इंसानों की तरह परिवार होता, उनकी भी सगाई और शादी होती ? नहीं सोचा? तो आइये जानते हैं कैसी होती वो दुनिया जिसमें होती...