सुबह पर बाल गीत :- देखो प्रभात हो आई है | बालगीत इन हिंदी

एक बच्चे के सुबह आलस्य की वजह से न उठने पर उसे उठाने के लिए लिखा गया बाल गीत ” सुबह पर बाल गीत ” :-

सुबह पर बाल गीत

सुबह पर बाल गीत

सूरज चाचू अम्बर आये
धूप भी साथ में आई है,
उठो न प्यारे लाल हमारे
देखो प्रभात हो आई है।

काली-काली रात ढल गई
तारे विदा हुए हैं सारे
कुदरत तुम्हारे स्वागत को
लेकर नाम तुम्हें पुकारे,
चिड़िया देखो छेड़ती तान
मुर्गे ने बाँग लगाई है
उठो न प्यारे लाल हमारे
देखो प्रभात हो आई है।

मीठी वाणी कोयल बोले
अपनी नींद तुम दूर करो
प्रातः काल शीतल वायु से
अपने आलस को चूर करो,
बिस्तर से निकलो अब जल्दी
माँ ने आवाज लगाई है
उठो न प्यारे लाल हमारे
देखो प्रभात हो आयी है।

सूरज ने है छटा बिखेरी
चमकती ओस की बूंदेें हैं
घंटी भी बज गयी घड़ी की
सब कोई हमको ढूंढे हैंं
ईश-भक्ति में लीन हो माँ ने
सुंदर आरती सुनाई है
उठो न प्यारे लाल हमारे
देखो प्रभात हो आई है।

कल-कल करती नदिया बहती
मौसम भी बहुत सुहाना है
करने हैं जग में काम बहुत
सोया जो हुनर जगाना है,
आसान नहीं यह जीवन राह
आती इसमें कठिनाई है
उठो न प्यारे लाल हमारे
देखो प्रभात हो आई है।

करके अब संघर्ष निरंतर
स्वयं में खुद ही सुधार करो
साधकर अपना एक निशाना
अपना जीवन साकार करो,
सूरज ने भी भटके जन को
एक नई राह दिखाई है
उठो न प्यारे लाल हमारे
देखो प्रभात हो आई है।

पढ़िए :- गोलू और परी की छोटी शिक्षाप्रद कहानी


शिक्षक पर कवितामेरा नाम हरीश चमोली है और मैं उत्तराखंड के टेहरी गढ़वाल जिले का रहें वाला एक छोटा सा कवि ह्रदयी व्यक्ति हूँ। बचपन से ही मुझे लिखने का शौक है और मैं अपनी सकारात्मक सोच से देश, समाज और हिंदी के लिए कुछ करना चाहता हूँ। जीवन के किसी पड़ाव पर कभी किसी मंच पर बोलने का मौका मिले तो ये मेरे लिए सौभाग्य की बात होगी।

‘ आशा पर कविता ‘ के बारे में कृपया अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे लेखक का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढने का मौका मिले।

यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ blogapratim@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

धन्यवाद।

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

You may also like...

1 Response

प्रातिक्रिया दे

हमें ख़ुशी है की हमारे लेख के बारे में आप अपने विचार देना चाहते है, परन्तु ध्यान रहे हम सारे कमेंट को हमारे कमेंट पालिसी के आधार पर स्वीकार करते है।