शिक्षक दिवस पर शायरी :- टीचर्स डे के अवसर पर अध्यापक के लिए शायरी

शिक्षक का स्थान जीवन में भगवान् के समान होता है। हमारे जीवन के अज्ञान रुपी अन्धकार को वो अपने ज्ञान रुपी प्रकाश से दूर करता है और हमें जीवन जीने का सही ढंग सिखाता है। अध्यापक द्वारा मिले ज्ञान से ही हम जीवन में एक सफल व्यक्ति बन सकते हैं। अध्यापक के जीवन में महत्त्व के कारण ही उनके सम्मान में शिक्षक दिवस मनाया जाता है। आइये उन्हीं शिक्षकों के सम्मान में पढ़ते हैं शिक्षक दिवस पर शायरी :-

शिक्षक दिवस पर शायरी

शिक्षक दिवस पर शायरी

1.

इन्सान के रूप में वो भगवन होते हैं,
शिक्षा का दान करने वाले शिक्षक महान होते हैं।


2.

वो न होते तो मैं भी ठोकरें जहान की खाता,
उसने ज्ञान क्या दिया, मेरी तो जिंदगी बदल गयी।


3.

किसी भी परिस्थिति में वो अपना संयम नहीं खोता है
हर समस्या का उसके पास हल होता है,
शिक्षक ही है जो बना देता है जीवन
जो करे इनका सम्मान वही सफल होता है।



4.

बुरे वक्त से हमें बचाता
उसका ज्ञान हमारे लिए रक्षक है,
सही मार्ग जो हमें दिखाता
वही हमारा सच्चा शिक्षक है।


5.

जहाँ होता है सम्मान शिक्षक का
वहाँ भगवन का वास होता है,
जो करता है इनका तिरस्कार
उसका सदा ही नाश होता है।


6.

अनजान नहीं वो किसी चीज से
उसका ज्ञान बहुत ही व्यापक है,
जो संसार को सभ्य बनाये
वही कहलाता अध्यापक है।


7.

जीने की जो शिक्षा देता, कर देता कल्याण
शिक्षक तो होते हैं, तुल्य सम भगवान्।


8.

हमारे जीवन के लक्ष्य तक जो हमें पहुँचाते है
क्या सही है क्या गलत हमें बताते हैं,
उनकी ही छात्र छाया में पलते हैं योद्धा
शिक्षक के ही इशारों पर इतिहास रचे जाते हैं।


9.

इतिहास लेता है करवट जब गुरु के मान की बात आती है
गुरु के क्रोध से तो बड़े-बड़ों की हस्ती मिट जाती है,
क्यों बात करें युगों की हम, इस कलयुग को ही देख लो
धनानंद और चाणक्य की घटना, गुरु के आक्रोश का नतीजा दिखाती है



10.

अगर उन्होंने बचपन में कलम पकडाई न होती
तो हमारे जीवन में ये मौज आई न होती,
कब के मर जाते हम तो जिंदगी की मार से
अगर शिक्षक की छड़ी से हमने मार खायी न होती।


11.

जिंदगी की राह भी यूँ आसान न होती
न होता साथ मेरे ये कारवां, मेरी इस कदर ये शान न होती,
मेरा सब कुछ है मेरे गुरु की बदौलत
अगर गुरु न होते मेरे जीवन में तो मेरी कोई पहचान न होती।


12.

भटकता है जो राहों में जीवन से या निराश है
अपने ही भविष्य की अगर तुझे तलाश है,
तुझे प्रेरणा देकर सही राह वो दिखायेगा
गुरु के तू पास जा, वो ज्ञान का प्रकाश हैं।


13.

कल्याण उसी का होता है जो गुरु की शरण में जाए
मानव की क्या बात करें माटी सोना बन जाए।


14.

माटी के तन में वो जान डाल देता है
छोटे से मन में कई अरमान डाल देता है,
यूँ तो होती है सारी दुनिया हमसे अनजान
मगर वो हमारे व्यक्तित्व में पहचान डाल देता है।



15.

जो स्थान है उनका हमारे जीवन में
उस स्थान पर कभी किसी को बिठाया नहीं जा सकता,
अध्यापक का अहुदा है माँ सामान जिंदगी में
उनका कर्ज सौ जन्मों तक चुकाया नहीं जा सकता।


जानिए :- शिक्षक की भूमिका, परिभाषा और महत्त्व

शिक्षक दिवस पर शायरी के बारे में अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर दें। टीचर्स डे के आवसर पर अपने गुरुजनों व विद्यार्थी मित्रों के साथ ये शायरी संग्रह शेयर करें।

धन्यवाद।

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

Sandeep Kumar Singh

Sandeep Kumar Singh

ये कविताएं, शायरियां और कुछ विचार मेरी खुद की रचनाएं हैं। कुछ नकलची बंदरों ने इन्हें चुरा कर अपने ब्लॉग पर डाल लिया है। असली रचनाएं यहीं हैं। आशा करता हूँ कि यदि आप ये रचनाएं कहीं शेयर करते हैं तो हमारे ब्लॉग का लिंक साथ मे जरूर दें। मैं एक अध्यापक हूँ और अपने इस ब्लॉग क लिए खुद ही लिखता हूँ। धन्यवाद।

You may also like...

1 Response

  1. HindIndia कहते हैं:

    हमेशा की तरह बहुत ही अच्छी कविता। Share करने के लिए धन्यवाद। 🙂

प्रातिक्रिया दे

हमें ख़ुशी है की हमारे लेख के बारे में आप अपने विचार देना चाहते है, परन्तु ध्यान रहे हम सारे कमेंट को हमारे कमेंट पालिसी के आधार पर स्वीकार करते है।