समय पर दोहे :- समय का महत्त्व बताते दोहे | Samay Ka Mahatva Par Dohe

सूचना: दूसरे ब्लॉगर, Youtube चैनल और फेसबुक पेज वाले, कृपया बिना अनुमति हमारी रचनाएँ चोरी ना करे। हम कॉपीराइट क्लेम कर सकते है।
रचना पसंद आये तो हमारे प्रोत्साहन के लिए कमेंट जरुर करें। हमारा प्रयास रहेगा कि हम ऐसी रचनाएँ आपके लिए आगे भी लाते रहें।

समय पर दोहे , जिसमें आप पढ़ेंगे समय से संबंधित बेहतरीन दोहे । ऐसे दोहे जो आपने अब तक नहीं पढ़े होंगे। समय बहुत बलवान है। ये कभी भी कुछ भी कर सकता है। एक इन्सान को अपने समय का सदैव सदुपयोग करना चाहिए। यदि एक मानव समय के साथ नहीं चलता तो अंत में उसके हाथ पछतावा ही रह जाता है। इसलिए हमें समय के साथ ही चलना चाहिए और अपने का समय रहते कर लेने चाहिए। ऐसी ही बातो के लिए प्रेरित करता है ये दोहा संग्रह “ समय पर दोहे ” :-


समय पर दोहे

समय पर दोहे


1.
समय नष्ट करता रहे, करे न कोई काम ।
जीवन मुश्किल हो तभी, मिले न फिर आराम ।।


2.
समय चक्र है घूमता, करता सबका न्याय ।
कोई इससे बच सके, ऐसा नहीं उपाय ।।


3.
दया करें इन्सान बस, समय न करता माफ़ ।
दे करनी का फल सदा, करता है इंसाफ ।।


4.
कभी घमंड न कीजिए, समय बड़ा बलवान ।
किए रंक राजा कई, निर्धन को धनवान ।।


5.
मंजिल उसको प्राप्त जो, करता रहे प्रयास ।
समय उसी का साथ दे, जिसको है विश्वास ।।


6.
समय के आगे न चले, कभी किसी का जोर ।
रचता अपना खेल ये, कभी न करता शोर ।।


7.
समय न ठहरा है कभी, बदली कभी न चाल ।
जिसके जैसे कर्म हैं, उसका वैसा हाल ।।


8.
समय मिलाए धूल में, समय दिलाए ताज ।
समय संग जो है चला, हुआ उसी का राज ।।


9.
समय उठाता प्रश्न भी, समय करे समाधान ।
मति दूषित कर दे समय, समय सही दे ज्ञान ।।


10.
समय रहे यूँ बीतता, जैसे दिन अरु रात ।
उतना हमको दे रहा, जितनी है औकात ।।


समय पर दोहे का विडियो देखने के लिए नीचे क्लिक करें :-


>> पढ़िए :- समय पर 20 बेहतरीन सुविचार  <<


” समय पर दोहे ” आपको कैसे लगे ? अपने विचार कमेंट बॉक्स के जरिये हम तक अवश्य पहुंचाएं।

पढ़िए समय से संबंधित ये बेहतरीन रचनाएं :-


धन्यवाद।

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on email
Email

6 thoughts on “समय पर दोहे :- समय का महत्त्व बताते दोहे | Samay Ka Mahatva Par Dohe”

  1. Avatar

    Greetings of peace , brother Sandeep .
    Very beautiful doha .
    We want to use one of your dohas in our divotional song for godly service , if you are ok with it .! Thank you .

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *