नव वर्ष पर दोहे :- नए साल पर सकारात्मकता से भरे 10 दोहे

नया साल सबके लिए कुछ न कुछ नया लेकर आता है। ऐसे में सब यही चाहते हैं की आने वाला नया साल सबके लिए अच्छा ही हो। इसके लिए जरूरी है सही विचारधारा का होना। सही विचारधारा के लिए जरूरी है सकरात्मक चीजों को देखना और पढ़ना। इसी सन्दर्भ में नए साल में सही विचारधारा के लिए सकारात्मक सोच के साथ प्रस्तुत हैं “ नव वर्ष पर दोहे “ :-

नव वर्ष पर दोहे

नव वर्ष पर दोहे

1.

गले लगा लो ज़िंदगी, आया है नव वर्ष ।

बीती बातें भूल कर, रखे हृदय में हर्ष ।।

2.

अवसर पर नव वर्ष के, खुशियाँ आये द्वार ।

कदम सफलता चूम ले, सपने हो साकार ।।

3.

नव नूतन नव वर्ष में, बांटो सबको प्यार ।

जग अपना लगने लगे, खुशियाँ मिले अपार ।।

4.

नए वर्ष में तुम करो, आलासपन का नाश ।

जीवन में संघर्ष कर, छू लोगे आकाश ।।

5.

आते-जाते बरस हैं, अस्थायी संसार ।

नए साल संकल्प लें, बाटेंगे हम प्यार ।।

6.

आया है नव वर्ष अब, नया करो आगाज़ ।

करो परिश्रम इस तरह, दुनिया पर हो राज ।।

7.

देकर यादें जा रहा, वर्ष रहा जो बीत ।

नए साल में छेड़ दो, नव जीवन संगीत ।।

8.

अंत हुआ ऋतू शीत का, आएगा मधुमास ।

नए साल में हर दिशा, फैला है उल्लास ।।

9.

बीत गया है वर्ष यूँ, जैसे बीते रात ।

आरंभ नव जीवन करो, आई नवल प्रभात ।।

10.

भेदभाव सब डर मिटे, सुखमय हो संसार ।

ऐसा हो नव वर्ष यह, सबका हो उद्धार ।।

पढ़िए :- नव वर्ष पर कविता “नया इतिहास रचाना है” 

“ नव वर्ष पर दोहे “ के बारे में अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ blogapratim@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

धन्यवाद।

अभी शेयर करे
WhatsAppFacebookTwitterGoogle+BufferPin It

Add Comment