मजेदार ज्ञान की बातें जिंदगी के सफ़र से – सही वक़्त पर होने वाली गलत घटनाओं का संग्रह

धत्त तेरी की, ये क्या हो गया? अक्सर जब किसी के साथ कुछ बुरा होता है तो उसके मन में यही डायलाग आता है। क्या होता है? अरे यही तो हम आपको बताने आये हैं। कुछ ऐसी बातें जो होती तो सबकी जिंदगी में हैं लेकिन हमे लगता है की सिर्फ हमारे साथ हुयी हैं। आइये जानते हैं ऐसी ही कुछ ज्ञान की बातें जिंदगी के सफ़र से जो अक्सर नजरंदाज कर दी जाती हैं :-

ज्ञान की बातें जिंदगी के सफ़र से

ज्ञान की बातें जिंदगी के सफ़र से

 

1. अक्सर दर्जी उन्हीं कपड़ों का सत्यानाश करता है, जो आपने बड़े चाव से खरीदा होता है।


2. ट्रेन हमेशा तभी लेट होती है जब आप समय पर पहुँचते हैं।


3. आपातकालीन में अगर किसी को फोन करना पड़े तो ठीक उसी समय फ़ोन की बैटरी या बैलेंस ख़तम हो जाता है।


4. जल्दबाजी में अगर आप अपने किसी मित्र से कुछ मांगते हैं तो पता चलता है कि उसके पास से वह चीज कोई और मांग कर ले गया है।


5. जिसके फ़ोन पर सिर्फ कस्टमर केयर वालों की ही कॉल आती है, अक्सर उनके द्वारा इगनोर की गयी कॉल किसी जान पहचान वाले की होती है।


6. जब भी आप अपने दुःख किसी को बताएँगे, वो अपनी दुःख भरी दास्तान लेकर बैठ जाएगा।


7. सब समझते हैं कि वह समझदार हैं और आप नहीं। समस्या ये है कि आप भी ऐसा ही सोचते हैं।


8. मेहमानों के जाने के बाद शायद ही कोई ऐसा घर हो जहाँ बचा हुआ सामान संभाल कर रखा जाता हो। आगे आप खुद समझदार हैं।


9. उतनी ख़ुशी शायद 99% वाले को भी न होती हो जितनी अपने ही दोस्त से 1% ज्यादा प्राप्त करने वाले को होती है।


10. एक छोटा सा बच्चा ठीक उसी टाइम हमारी बेईज्ज़ती करवाता है जब हम सबके सामने अपनी बड़ाई करते हैं।


11. वैसे तो चिट्ठियों का ज़माना न रहा लेकिन आज जब भी काम की चिट्ठी आती है, हमेशा देरी से ही आती है या गलत हाथों से आती है।


12. पैसे उधार लिए हों तो दिन जल्दी बीत जाते हैं, उधार दिए हों तो महीना जल्दी ख़तम ही नहीं होता।


13. ज्यादा प्यास लगे होने पर फ्रिज में हमेशा खाली बोतलें ही मिलती हैं।


14. इन्टरनेट का सर्वर हमेशा तभी डाउन होता है जब हम कोई जरूरी काम कर रहे होते हैं, या तो इन्टरनेट पर किया जाने वाला हर काम हमें जरूरी लगता है।


15. अगर आपको किसी कारणवश कहीं जाने के लिए घर से ही देरी हो जाती है तो सारी कायनात आपको रोकने में जुट जाती है।


16.सच्ची आज़ादी तभी फील होती है जब टीवी का रिमोट अपने हाथ में होता है।


17. शादी किसी की भी हो रिश्तेदार सबके एक जैसे होते हैं, उनके अनुसार उनकी सेवा में कोई न कोई कमी रह जाती है।


18. जिस दिन हम सोचते हैं की पहने हुए कपडे गंदे नहीं करने। उसी दिन ही कपड़े गंदे होते हैं।


19. आपातकालीन स्थिति में आपको किसी चीज की जरूरत पड़े तो पहली दो-तीन दुकानों पर वो चीज मिलती ही नहीं।


20. जब भी हम किसी और की तरफ देख कर कोई सामान खरीदते हैं। तो एक-दो दिन में ही उसका रेट कम हो जाता है।



उम्मीद है आप में से बहुत से लोगों के साथ ये घटनाएं होती होंगी। अगर आप के साथ भी ऐसी कोई घटना घटी है तो कमेंट बॉक्स में हमें व अन्य पाठकों को जरूर बताएं।

धन्यवाद।

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

Sandeep Kumar Singh

Sandeep Kumar Singh

ये कविताएं, शायरियां और कुछ विचार मेरी खुद की रचनाएं हैं। कुछ नकलची बंदरों ने इन्हें चुरा कर अपने ब्लॉग पर डाल लिया है। असली रचनाएं यहीं हैं। आशा करता हूँ कि यदि आप ये रचनाएं कहीं शेयर करते हैं तो हमारे ब्लॉग का लिंक साथ मे जरूर दें। मैं एक अध्यापक हूँ और अपने इस ब्लॉग क लिए खुद ही लिखता हूँ। धन्यवाद।

You may also like...

19 Responses

  1. Babita Singh कहते हैं:

    बात पुरानी पर कहने का अंदाज superb. आपने बहुत बेहतरीन अंदाज में लेख लिखा है ।

  2. Sushil jaiswal कहते हैं:

    inme se 95% mere sath hua hai. 9,10,15 r super.

  3. neeraj swami कहते हैं:

    bahut hi achhi kahani…. dhnyavad

  4. Ramniwas कहते हैं:

    Muje nokri ki sakhat jarurat thi company wale dekhte hi bole diploma walo koto lena hi band kar dia.abto iti rakhte h

  5. Riva Kashap कहते हैं:

    U writes really osm why r u not trying beyond than writing in blogs only

प्रातिक्रिया दे

हमें ख़ुशी है की हमारे लेख के बारे में आप अपने विचार देना चाहते है, परन्तु ध्यान रहे हम सारे कमेंट को हमारे कमेंट पालिसी के आधार पर स्वीकार करते है।