बड़े भाई पर कविता :- वो मेरा प्यारा भाई है | Bade Bhai Par Kavita

जीवन में एक बड़े भाई की अहमियत बहुत ही ज्यादा होती है। पिता के बाद बड़ा भाई ही वो इंसान होता है जो हमें पिता का प्यार देता है। जो घर की जिम्मेदारियां संभालता है। जिसके होने से हमें सुरक्षा का अनुभव होता है। वो हर जगह हमारे लिए खड़ा रहता है और हमारी जरूरतों को पूरा करने के लिए दिन रात एक कर देता है। एक बड़े भाई होने के नाते वो कभी भी अपने छोटे भाई-बहनों पर किसी दुःख का साया नहीं आने देता। ऐसे भाई भी किस्मत वालों को ही मिलते हैं। आइये पढ़ते हैं ऐसे ही भाई को समर्पित यह बड़े भाई पर कविता ” वो मेरा प्यारा भाई है ” :-

बड़े भाई पर कविता

बड़े भाई पर कविता

गलती पर मुझको
जो है डांटता
मेरा सुख-दुःख सब कुछ
वो हैं बांटता,
दीवार बना वो खड़ा रहे
कोई जब भी मुसीबत आई है
मेरे पिता की वो परछाई है
वो मेरा प्यारा भाई है।

बचपन से रहा वो संग मेरे
हमने खेलें हैं खेल कई
हारा मुझसे वो जानबूझ कर
पर मुझसे कभी लड़ा नहीं,
जीवन में कभी जो उलझा मैं
उसने हर उलझन सुलझाई है
मेरे पिता की वो परछाई है
वो मेरा प्यारा भाई है।

धूप है जो ज़िन्दगी
तो वो प्यारी सी छाँव है
मेरे लिए जब चलते तो
थकते न उसके पाँव हैं.,
मेरे चेहरे पर लाया ख़ुशी
जब भी उदासी छाई है
मेरे पिता की वो परछाई है
वो मेरा प्यारा भाई है।

इस कविता का विडियो यहाँ देखें :-

भाई पर कविता ( वो मेरा प्यारा भाई है ) | Bhai Par Kavita | Bada Bhai Poetry

बड़े भाई पर कविता ” वो मेरा प्यारा भाई है ” आपको कैसी लगी ? अपने विचार हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से जरूर बताएं।


पढ़िए भाई बहन से संबंधित अप्रतिम ब्लॉग की बेहतरीन रचनाएं :-

धन्यवाद।

One Response

  1. Avatar Utkarsh