शिक्षक दिवस पर कविता :- शिक्षक का महत्व बताती बाल कविता | Shikshak Diwas Par Kavita

शिक्षक एक देश का निर्माता होता है। उसके कन्धों पर एक अच्छे समाज के सृजन का भार होता है। शिक्षक जिसे हम गुरु भी कहते हैं, भगवान् के सामान पूजनीय होता है। उसी के पढ़ाये पाठ के कारण ही हम अपने जीवन में सफल हो पाते हैं। इसी कारण शिक्षकों के सम्मान में पूरी दुनिय में शिक्षक दिवस मनाया जाता है। तो आइये पढ़ते हैं दुनिया भर के ऐसे ही शिक्षकों को समर्पित है हमारी ये शिक्षक दिवस पर कविता :-

शिक्षक दिवस पर कविता

शिक्षक दिवस पर कविता

दुनिया का भाग्य विधाता
हमारे जीवन का रक्षक है,
खुद को जला प्रकाश फैलाता
भगवान समान वो शिक्षक है।

A B C D एक दो तीन
क ख ग घ हमें पढ़ाया है
संग हमारे रह कर उसने
हमको आगे बढ़ाया है,
आज अगर सफल हैं हम
हम पर उसका पूरा हक है
खुद को जला प्रकाश फैलाता
भगवान समान वो शिक्षक है।

जीवन की राह सरल हो
ऐसा देता है ज्ञान हमें
उसकी शिक्षा से ही मिलता
इस जग में सम्मान हमें,
बिन उसके बेकार है सब
जीना भी अपना निरर्थक है
खुद को जला प्रकाश फैलाता
भगवान् समान वो शिक्षक है।

माँ बन कर हमको पालते हैं
बन पिता वो हमको डाँटते हैं
अपने जीवन का अनुभव भी
वो संग हमारे बांटते हैं,
भला ही सोचे शिष्य का वो
इसमें भी न कोई शक है
खुद को जला प्रकाश फैलाता
भगवान् समान वो शिक्षक है।

लालच न उसके मन में
कर्तव्य वो अपना निभाता है
सबको पहुंचा दे महलों में
खुद झोपड़ी में सो जाता है,
बढ़े शिष्य आगे सदा
वो इसी बात का इच्छुक है
खुद को जला प्रकाश फैलाता
भगवान समान वो शिक्षक है।

इस तथ्य का हमको भान रहे
कि ऊँचा उसका मान रहे
जिसने हमको शिक्षा दी है
हम बन उसकी संतान रहें,
जब भी पड़ती कोई मुसीबत
बनता वो हमारा संरक्षक है
खुद को जला प्रकाश फैलाता
भगवान् समान वो शिक्षक है।

पढ़िए :- गुरु पर कविता ‘वही गुरु कहलाता है’

इस कविता का विडियो यहाँ देखें :-

शिक्षक दिवस पर कविता (भगवान समान वो शिक्षक है) Shikshak Diwas Par Kavita | Teacher Day Poem In Hindi

शिक्षक दिवस पर कविता आपको कैसी लगी? अपने विचार हम तक अवश्य पहुंचाएं। अपने जीवन में शिक्षक का महत्त्व बताने के लिए अपने शिक्षकों के साथ भी ये कविता शेयर करें।


पढ़िए शिक्षक दिवस को समर्पित ये बेहतरीन रचनाएं :-

धन्यवाद।