ज़िन्दगी एक समन्दर – जिंदगी के हालातों से सबक पर बेहतरीन हिंदी कविता

ज़िन्दगी एक समन्दर – जिंदगी पर कविता

ज़िन्दगी एक समन्दर की तरह है। जो हमें अलग-अलग कठिनाइयों और समस्याओं रूपी लहरों से डुबोने पर तुली होती है। अगर हम तैरना मतलब की जिंदगी जीने का हुनर नही सीखेंगे तो इस समंदर में डूब जायेंगे। जिदगी के हालातो से सबक सीखने की बात बताती ये प्रेरणादायक कविता पढ़े :- ज़िन्दगी एक समन्दर – जिंदगी के हालातो से सबक पर कविता

ज़िन्दगी एक समन्दर

सीखा हुनर मैंने तैरने का,
डूबा दिया जो समुंदर ने तो,
बेवजह हमने बेवफा कह दिया।

उम्मीद लहरों से थी कि
साहिल दिला दे मुझे,
ऐसा फँसा था मझधार में मैं
कि मुझे किनारे ना दिखा।

मंडराती रही कश्तियां चारों ओर
मेरे अपनों की तरह,
हालात मेरे उनको
मेरी अदाकारी के नमूने लगे।

छोड़ चुका था हिम्मत रात अंधेरी काली में,
दिखी जो एक किरन उजाले की तो सहारा सा मिला ।

कोशिशें जारी की मैंने
नए दिन को निकलते देख,
हौसला देख मौजों ने भी
साथ दिया मेरा।
किसी तरह पहुंचा जो किनारे पर,
तो किश्ती सवारों से शाबाशी का इनाम मिला।

शुक्रगुजार हूं उस समंदर का
जिसका नाम जिंदगी है,
जीने का सबक हमको बतौर इनाम मिला।

पढ़िए- जिंदगी पे बेहतरीन कविता – जिंदगी क्याहै?


दोस्तों अगर आप लोग भी लिखने के शौक़ीन है। या आपके पास ही ऐसे ही कोई कविता, शायरी, व्यंग, कहानी या कोई भी लेख हो। और अगर आप उसे लोगो तक पहुचना चाहते है। तो आपकी लेख हमें भेजे, हम वो लेख आपके नाम और पाते के साथ प्रकाशित करेंगे। हमें यहाँ संपर्क करे या फिर निचे Contact Us में भी जा के हमें अपनी लेख भेज सकते है।

और आपको हमारी ये कविता कैसी लगी जरुर बताइयेगा।

धन्यवाद।

अभी शेयर करे
WhatsAppFacebookTwitterGoogle+BufferPin It

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

12 Comments

  1. Avatar SHYAM NARAYAN DUBEY
  2. Avatar SHYAM NARAYAN DUBEY
  3. Avatar Aarti mishra
  4. Avatar Aarti mishra

Add Comment