गीत गजल और दोहे, हिंदी कविता संग्रह

जिसका था इंतजार मुझको वो आया है । हिंदी गीत के बोल – 1


हिंदी गीत जिसका था इंतजार मुझको वो आया है के बोल पढ़िए- 

जिसका था इंतजार मुझको वो आया है

जिसका था इंतजार मुझको वो आया है

जिसका था इंतजार मुझको वो आया है ।
नूर चेहरे पे लबों पर तबस्सुम छाया है
भरी महफ़िल में दिल ये तनहा-तनहा था
मेरे दिल का वो चैनों सुकूँ लाया है
जिसका था इन्तजार मुझको वो आया है।
नूर चेहरे पे लबों पर तबस्सुम छाया है।

कोई कहता है वो फरिश्ता है
पर मेरा उससे अहसासों का एक रिश्ता है
लाखों मुखड़े हैं इस हसीं दुनिया में
पर मुझे उसीका मुखड़ा भाया है
जिसका था इन्तजार मुझको वो आया है।
नूर चेहरे पे लबों पर तबस्सुम छाया है।

कोई तो बात है जो जुड़ा है वो जज़्बातों से
चुरा के नींदें मेरी जगाता है वो रातों में
असर ऐसा हुआ है कि दुआ कोई न चले
न जाने कैसे मेरे दिल में वो उतर आया है
जिसका था इन्तजार मुझको वो आया है
नूर चेहरे पे लबों पर तबस्सुम छाया है।

ख्वाबों में होती हैं अक्सर उससे मुलाकातें
हमने कई मर्तबा की हैं बहुत सी बातें
नजर न मिलती है उनसे जो आज देखा है
कैसे समझाएं उन्हें हमने क्या पाया है
जिसका था इन्तजार मुझको वो आया है
नूर चेहरे पे लबों पर तबस्सुम छाया है।

पढ़िए- मेरे चेहरे पे मुस्कुराहट :- The Reason Of Smile


पढ़िए ये बेहतरीन कविताएं –

धन्यवाद

One Comment

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *