जिसका था इंतजार मुझको वो आया है । हिंदी गीत के बोल – 1

हिंदी गीत जिसका था इंतजार मुझको वो आया है के बोल पढ़िए- 

जिसका था इंतजार मुझको वो आया है

जिसका था इंतजार मुझको वो आया है

जिसका था इंतजार मुझको वो आया है ।
नूर चेहरे पे लबों पर तबस्सुम छाया है
भरी महफ़िल में दिल ये तनहा-तनहा था
मेरे दिल का वो चैनों सुकूँ लाया है
जिसका था इंतजार मुझको वो आया है।
नूर चेहरे पे लबों पर तबस्सुम छाया है।

कोई कहता है वो फरिश्ता है
पर मेरा उससे अहसासों का एक रिश्ता है
लाखों मुखड़े हैं इस हसीं दुनिया में
पर मुझे उसीका मुखड़ा भाया है
जिसका था इंतजार मुझको वो आया है।
नूर चेहरे पे लबों पर तबस्सुम छाया है।



कोई तो बात है जो जुड़ा है वो जज़्बातों से
चुरा के नींदें मेरी जगाता है वो रातों में
असर ऐसा हुआ है कि दुआ कोई न चले
न जाने कैसे मेरे दिल में वो उतर आया है
जिसका था इंतजार मुझको वो आया है
नूर चेहरे पे लबों पर तबस्सुम छाया है।

ख्वाबों में होती हैं अक्सर उससे मुलाकातें
हमने कई मर्तबा की हैं बहुत सी बातें
नजर न मिलती है उनसे जो आज देखा है
कैसे समझाएं उन्हें हमने क्या पाया है
जिसका था इंतजार मुझको वो आया है
नूर चेहरे पे लबों पर तबस्सुम छाया है।

पढ़िए- मेरे चेहरे पे मुस्कुराहट :- The Reason Of Smile


ये बेहतरीन कविताये  पढ़े-

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

Sandeep Kumar Singh

Sandeep Kumar Singh

ये कविताएं, शायरियां और कुछ विचार मेरी खुद की रचनाएं हैं। कुछ नकलची बंदरों ने इन्हें चुरा कर अपने ब्लॉग पर डाल लिया है। असली रचनाएं यहीं हैं। आशा करता हूँ कि यदि आप ये रचनाएं कहीं शेयर करते हैं तो हमारे ब्लॉग का लिंक साथ मे जरूर दें। मैं एक अध्यापक हूँ और अपने इस ब्लॉग क लिए खुद ही लिखता हूँ। धन्यवाद।

You may also like...

प्रातिक्रिया दे

हमें ख़ुशी है की हमारे लेख के बारे में आप अपने विचार देना चाहते है, परन्तु ध्यान रहे हम सारे कमेंट को हमारे कमेंट पालिसी के आधार पर स्वीकार करते है।