तू वही है ना | प्यार भरी हिंदी कविता | Tu Wahi Hai Na: Hindi Poem

Ye Kavita Hinglish me padhe>> प्यार भरी एक छोटी कविता, तू वही है ना,

तू वही है ना

तू वही है ना

हे….तू वही है ना
जिसने मेरी नींदें लूटी
और आज बोल रही बेकसूर हूँ मैं।
तू वही है ना
जो मेरे दिल में रहती है
और आज बोल रही है बहुत दूर हूँ मैं।
तू वही है ना
जिसने सारे गम मिटा दिए मेरे
और आज बोल रही है नासूर हूँ मैं।

नहीं तू वो नहीं
जो तू बोल रही है
मैं ही न तुझे अपना बना सका मजबूर हूँ मैं।
नहीं तू वो नहीं
जो तू बोल रही है
मैं ही हूँ जो तेरा न हो सका
बिछड़ जाए वो दस्तूर हूँ मैं।
नहीं तू वो नहीं
जो तू बोल रही है
बेबस हूँ नादान हूँ पर तेरे दिल में जरूर हूँ मैं।
चल फिर आज वादा करते हैं साथ देने का
तू जवाब दे देना अगर मँजूर हो तो
जैसा भी हूँ आपका हुज़ूर हूँ मैं।

अभी शेयर करे
WhatsAppFacebookTwitterGoogle+BufferPin It

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

4 Comments

  1. Avatar Rahul mishra
  2. Avatar Dr. Amanulla M. Shaikh

Add Comment