हिन्दी बाल कविताएँ :- गुलाबी रंग और बादल पर कविता | Hindi Bal Kavita

गुलाबी रंग और बादल पर हिन्दी बाल कविताएँ :-

हिन्दी बाल कविताएँ

हिंदी बाल कविताएँ

गुलाबी रंग

सब रंगों में रंग गुलाबी ।
मुझको भाता रंग गुलाबी ।

सुबह सवेरे धूप गुलाबी ।
फूलों का है रंग गुलाबी । ।

मम्मी पापा लाए गुड़िया ,
उसने पहनी फ्रॉक गुलाबी ।

नानी हँसती, दादी हँसती,
दोनों की मुस्कान गुलाबी ।

कुतर कुतर गाजर जो खाता ,
वो मेरा खरगोश गुलाबी ।

किचेन बड़ी सी बर्तन छोटे ,
सबके लेकिन रंग गुलाबी ।

कुत्ता,बिल्ली,तोता भालू ,
सारे सुंदर होंठ गुलाबी ।

रात नींद में सपने आते ,
परियाँ लातीं छड़ी गुलाबी ।

हे ईश्वर सबको खुश रखना ,
जीवन के हैं रंग गुलाबी ।

✍ अंशु विनोद गुप्ता

पढ़िए :- शिक्षाप्रद कहानी ‘एक गिलास दूध’


बादल पर कविता

तरह-तरह के आते बादल।
आसमान में छाते बादल ।

नीले काले हल्के भारी ,
हँसते उड़ते जाते बादल ।

कभी घनेरे चंदा घेरे ,
काली रात दिखाते बादल ।

बिजली बुआ भड़क के आती,
अकड़-मकड़ दिखलाते बादल।

जिधर न बरसें,धरती तरसे,
बूँद-बूँद तरसाते बादल ।

कभी बरसते,धूम धड़ाका ,
नदिया बाढ़ बढ़ाते बादल ।

सावन भादों जमकर बरसें ,
सर्दी ओले लाते बादल ।

फट जाते गुस्से के मारे,
आफ़त बड़ी मचाते बादल ।

तानसेन का गाना सुनकर ,
लपक झपक कर आते बादल ।

मोर नाचते ,ता ता थैया ,
मन को खूब लुभाते बादल ।

✍ अंशु विनोद गुप्ता

पढ़िए :- गोलू और परी की शिक्षाप्रद कहानी


अंशु विनोद गुप्ता जी अंशु विनोद गुप्ता जी एक गृहणी हैं। बचपन से इन्हें लिखने का शौक है। नृत्य, संगीत चित्रकला और लेखन सहित इन्हें अनेक कलाओं में अभिरुचि है। ये हिंदी में परास्नातक हैं। ये एक जानी-मानी वरिष्ठ कवियित्री और शायरा भी हैं। इनकी कई पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। जिनमें गीत पल्लवी प्रमुख है।

इतना ही नहीं ये निःस्वार्थ भावना से साहित्य की सेवा में लगी हुयी हैं। जिसके तहत ये निःशुल्क साहित्य का ज्ञान सबको बाँट रही हैं। इन्हें भारतीय साहित्य ही नहीं अपितु जापानी साहित्य का भी भरपूर ज्ञान है। जापानी विधायें हाइकू, ताँका, चोका और सेदोका में ये पारंगत हैं।

‘ हिन्दी बाल कविताएँ ‘ के बारे में अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे लेखक का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढने का मौका मिले।

यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हामरे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ blogapratim@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

धन्यवाद।

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

You may also like...

प्रातिक्रिया दे

हमें ख़ुशी है की हमारे लेख के बारे में आप अपने विचार देना चाहते है, परन्तु ध्यान रहे हम सारे कमेंट को हमारे कमेंट पालिसी के आधार पर स्वीकार करते है।