परिवार पर शायरी :- परिवार प्रेम पर बेहतरीन शायरी | Family Shayari In Hindi

सूचना: दूसरे ब्लॉगर, Youtube चैनल और फेसबुक पेज वाले, कृपया बिना अनुमति हमारी रचनाएँ चोरी ना करे। हम कॉपीराइट क्लेम कर सकते है।
रचना पसंद आये तो हमारे प्रोत्साहन के लिए कमेंट जरुर करें। हमारा प्रयास रहेगा कि हम ऐसी रचनाएँ आपके लिए आगे भी लाते रहें।

एक इंसान के जीवन परिवार का बहुत महत्व होता है। यूँ भी कहा जा सकता है कि बिना परिवार के इंसान की जिंदगी कुछ भी नहीं होती। परिवार हमारा हौसला हमारी हिम्मत और उमरी पहचान होता है। एक समाज के निर्माण में सबसे महत्वपूर्ण योगदान परिवार का ही होता है। परिवार एकता का प्रतीक है। बुरे वक़्त में दुनिया आपका साथ छोड़ सकती है लेकिन परिवार हर परिस्थति में आपके साथ खड़ा रहता है। संसार में परिवार के इसी महत्व को देखते हुए 15 मई को पूरे विश्व में परिवार दिवस मनाया जाता है। आइये पढ़ते हैं उसी परिवार को समर्पित यह ” परिवार पर शायरी “शायरी संग्रह :-

परिवार पर शायरी

परिवार पर शायरी

1.
मुसीबत में खड़ा जो साथ बन दीवार होता है
हमारा हौसला हिम्मत वही परिवार होता है,
बड़े मजबूत दुनिया में लहू के रिश्ते होते हैं
कहाँ सबके नसीबों में लिखा ये प्यार होता है।

2.
जिसके होने से रिश्तों में अलग इक जान होती है
मुश्किलें भी जिंदगी की बड़ी आसान होती हैं,
वही परिवार करता है मुकम्मल इस जहां को भी
उसी परिवार से इंसान की पहचान होती है।

3.
बुरा साया उनके रहते हमें छू तक नहीं सकता,
दुआएं जिनकी बन साया हमारे साथ रहती हैं।

4.
माँ ममता की मूरत, पिता ज्ञान की खान,
बहन मान है घर का, भाई मेरी जान,
बिन इनके नहीं वजूद मेरा
है परिवार मेरी पहचान।

5.
कोई हल ढूंढ लेते हैं मुसीबत जब भी आती है,
मेरे परिवार का हर शख्स़ खुदा से कम नहीं है।

6.
कैसे भी हालात हो, थामे रखते हाथ,
परिवार कभी न छोड़ता दुनिया छोड़े साथ।

7.
है क्या परिवार की कीमत
ये उनसे जाके पूछो तुम,
जो खाली पेट आधी रात को
सड़कों पे सोते हैं।

8.
वो दिन भर टूट कर दो वक़्त की रोटी कमाता है,
पिता का साथ ही परिवार की बुनियाद होता है।

9.
बुरे हों लाख हम फिर भी वो हम पर जान देते हैं,
मेरी ख़ामोशी में भी दर्द जो पहचान लेते हैं।

10.
बहन-भाई पिता-माता फ़रिश्ते हैं खुदा के सब,
बढ़के इनसे जहां में कोई भी दौलत नहीं होती।

इस शायरी संग्रह का विडियो देखने के लिए नीचे क्लिक करें :-

पढ़िए :- परिवार पर दोहे | परिवार दिवस को समर्पित दोहा संग्रह

“ परिवार पर शायरी ” ( Parivar Shayari ) आपको कैसी लगी? कमेंट बॉक्स में हमें जरूर बताएं।


धन्यवाद।

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on email
Email

3 thoughts on “परिवार पर शायरी :- परिवार प्रेम पर बेहतरीन शायरी | Family Shayari In Hindi”

  1. Avatar
    परोहा कांचा गुरु

    # कांचा गुरु मित्र मंडल रीवा
    है क्या परिवार की कीमत
    ये उनसे जाके पूछो तुम,
    जो खाली पेट आधी रात को
    सड़कों पे सोते हैं।

  2. Avatar
    कांचा गुरु मित्र मंडल

    परिवार बिना गांव अधूरा रह जाता है
    घर के बाद वह तो परिवार बिना ही रह जाता है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *