ईंधन संरक्षण पर स्लोगन ( दोहे ) – ईंधन आप बचाइये | Fuel Conservation Slogans

ईंधन हमारे जीवन का एक अहम् हिस्सा हैं। घर में जलने वाली गैस से लेकर वाहन में पड़ने वाले पेट्रोल और डीजल ईंधन का ही रूप हैं। आज के समय में लोग इनका प्रयोग बहुत ज्यादा मात्रा में बिना सोचे-समझे कर रहे हैं। इनकी अत्याधिक खपत के कारण एक दिन ये हमारी पहुँच से बहार हो जाएँगे। उस दिन हमारा क्या हाल होगा इसका अंदाजा वे लोग आसानी से लगा सकते हैं जिन्होंने किसी ख़ास अवसर पर इनकी कमी महसूस की हो। ईंधन के कारन ही आज का संसार बहुत तेजी से काम कर रहा है। इसलिए इसका संरक्षण अति आवश्यक है। आइये पढ़ते हैं  ईंधन संरक्षण के लिए प्रेरित करते ईंधन संरक्षण पर स्लोगन ( दोहे ) :-

ईंधन संरक्षण पर स्लोगन ( दोहे )

ईंधन संरक्षण पर स्लोगन ( दोहे )

ईंधन आप बचाइये,
ईंधन है अनमोल ।
अमल आप भी कीजिये,
विनयवाणी के बोल ।।

रोज रोज के बचत से,
भला सभी का होय ।
घर में दो पैसा बचे,
देश की सेवा होय ।।

गैस-बर्नर साफ रखें,
कम न ज्यादा आंच ।
ईंधन ही सोना असली,
बात कहूँ मैं साँच ।।

खाना जब भी बनाइये,
कुकर में हीं बनाय ।
दाल राजमा चावल को,
पहले देउ भिंगाय ।।

गृहिणी संग आप भी,
ईंधन रोज बचाय ।
घर दोनों के प्यार से,
महकत रहे सुभाय ।।

लालबत्ती पर देर हो,
गाड़ी कर दें बंद ।
सहकर्मी ‘कारपुल’ से,
पैसे बचायें चंद ।।

रखरखाव रखें सही,
बाइक हो या कार ।
बूंद-बूंद बचाइये,
ईंधन को हर बार ।।

पढ़िए – ईंधन संरक्षण पर निबंध


विनय कुमारयह रचना हमें भेजी है आदरणीय विनय कुमार जी ने जो की अभी रेलवे में कनिष्ठ व्याख्याता के रूप में कार्यरत हैं।
रचनाएं व अवार्ड: इनकी रचनाएं देश के 50 से अधिक पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुकी है। जिस के फलस्वरूप आप कई बार सम्मानित हो चुके हैं। गत वर्ष 2018 का रेलमंत्री राष्ट्रीय अवार्ड भी रेल मंत्री ने दिया था।
लेखन विद्या: गीत, ग़ज़ल, दोहा, कुण्डलिया छन्द, मुक्तक के अलावा गद्य में निबंध, रिपोर्ट, लघुकथा इत्यादि। तकनीकी विषय मे हिंदी में लेखन।

‘ ईंधन संरक्षण पर स्लोगन ( दोहे ) ‘ के बारे में अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे रचनाकार का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढ़ने का मौका मिले।

यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ blogapratim@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

अभी शेयर करे
WhatsAppFacebookTwitterGoogle+BufferPin It

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

Add Comment