अनुशासन पर दोहे :- इंसान के जीवन में अनुशासन का महत्व बताते दोहे

ऐसा कहा जाता है कि अनुशासन का एक विद्यार्थी के जीवन में बहुत महत्व है। अनुशासन तो हर व्यक्ति के लिए अवशयक है। बिना अनुशासन के जिन्दगी बिना डोर की एक पतंग की तरह होती है जो तेज हवा चलने पर तो ऊपर चली जाती है लेकिन हवा के बंद होने पर जमीन पर आ गिरती है। लेकिन अनुशासन में रहने वाले व्यक्ति हमेशा ऊपर की ओर ही जाते हैं। क्योंकि वो समय पर अपने हर काम कर लेते हैं जिस से किसी भी तरह की चिंता नहीं रहती। इसीलिए एक व्यक्ति के जीवन में अनुशासन की बहुत महत्वता है। इसी विषय को आगे बढ़ाते हुए आइये पढ़ते हैं अनुशासन पर दोहे :-

अनुशासन पर दोहे

अनुशासन पर दोहे

1.

बिना कार्य के पूर्ण भये, जो न चैन से सोय ।
सफल वो मानव है सदा, जो अनुशासन में होय ।।

2.

पढ़ाई लिखाई से यदि, भागता रहता मन ।
करो नियंत्रित तुम इसे, अपना कर अनुशासन ।।

3.

देश तरक्की न करे, चाहे जो भी करे शासन ।
जब तक उसमें न रहे, भीतर से अनुशासन ।।

4.

जीवन में वही प्रगति करे, इस बात को जो ले जान ।
अनुशासन ही भरता है, सबके सपनों में प्राण ।।

5.

बिन अनुशासन रे मना, सफल न होते काम ।
जीवन स्तर नीचे गिरे, जिसे कोई न सकता थाम ।।

6.

इस बात को जो न जान सका, वो बहुत बड़ा अज्ञान ।
अनुशासन सम तप नहीं, ये सबसे बड़ा है ध्यान ।।

7.

अनुशासन की डोर से, जो कोई बंध जाय ।
जीवन में प्रगति करे, मनचाहा वर पाय ।।

8.

कितने ही आये-गये, इस धरा पे ये इन्सान ।
अनुशासन में जो रहा, बस वही है बना महान ।।

9.

दुविधा में हैं सब पड़े, ये बात न जाने कोय ।
अनुशासन के मार्ग पर, सफल ये जीवन होय ।।

10.

वही सफल विद्यार्थी, जो अनुशासन अपनाय ।
सबको पीछे क छोड़ कर, वो आगे बढ़ जाय ।।

11.

स्वप्न उसी के पूर्ण हों, जिसे अनुशासन से प्यार ।
बुरे वक़्त से लड़ने का है, ये सबसे बड़ा हथियार ।।

12.

बिन नियमों के रहता है, इन्सान सदा गुमनाम ।
अनुशासन से ही बनती, एक व्यक्ति की पहचान ।।

13.

आज के काम को कभी, कल पे न तू छोड़ ।
आगे बढ़ने के लिए, अनुशासन से रिश्ता जोड़ ।।

14.

अनुशासन में जो रहे, वो आगे ही बढ़ता जाय ।
समय भी उसकी कदर करे, खुशियाँ सब वो पाय ।।

पढ़िए :- एकाग्रता कैसे बढायें?

अनुशासन पर दोहे के बारे में अपने विचार हम तक अवश्य पहुंचाएं। यदि आप भी रखते हैं कुछ अलग लिखने का हुनर तो अपनी रचना हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुँचाने के लिए हमें blogapratim@gmail.com पर मेल करें या फिर 9115672434 पर व्हाट्सएप्प करें।

धन्यवाद।

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

Sandeep Kumar Singh

Sandeep Kumar Singh

ये कविताएं, शायरियां और कुछ विचार मेरी खुद की रचनाएं हैं। कुछ नकलची बंदरों ने इन्हें चुरा कर अपने ब्लॉग पर डाल लिया है। असली रचनाएं यहीं हैं। आशा करता हूँ कि यदि आप ये रचनाएं कहीं शेयर करते हैं तो हमारे ब्लॉग का लिंक साथ मे जरूर दें। मैं एक अध्यापक हूँ और अपने इस ब्लॉग क लिए खुद ही लिखता हूँ। धन्यवाद।

You may also like...

9 Responses

  1. sumit singh कहते हैं:

    story on indisipline please give me argent

  2. Sweety कहते हैं:

    Yes you are absolutely right sir patience is the key of success…..

  3. Sweety कहते हैं:

    Hello sir I m sweety and I m private school teacher….. Sir I like motivational story …… Students k liye school morning assembly m kuch anushasan topics chaiye the ..Plz ap meri help kre….. Koi bhi story jo students k liye motivated ho or teachers ko bhi kuch sikhne ko mile…. Aisi story likh dijiye

    • Sandeep Kumar Singh Sandeep Kumar Singh कहते हैं:

      स्वीटी जी इस ब्लॉग पर बहुत सी ऐसी कहानियां हैं जो जिंदगी में आगे बढ़ने की प्रेरणा देती हैं। आप कहानियों वाले सेक्शन में प्रेरणादायक कहानियां पढ़ सकती हैं। धन्यवाद।

प्रातिक्रिया दे

हमें ख़ुशी है की हमारे लेख के बारे में आप अपने विचार देना चाहते है, परन्तु ध्यान रहे हम सारे कमेंट को हमारे कमेंट पालिसी के आधार पर स्वीकार करते है।