माँ पर दो लाइन शायरी :- माँ के लिए स्टेटस और शायरी | Maa Shayari 2 Lines

माँ को समर्पित माँ पर दो लाइन शायरी :-

माँ पर दो लाइन शायरी

माँ पर दो लाइन शायरी

1.

बिगड़े हुए हालातों की तस्वीर बदल देती है,
माँ की दुवाएं बेटों की तकदीर बदल देती है।

2.

साथ छोड़ देती है दुनिया पर वो साथ चलती है,
कैसे भी हो हालात माँ कभी नहीं बदलती है।

3.

लाख छिपाता है कोई जब परेशानियाँ जकड़ लेती हैं,
माँ-माँ होती है औलादों की खामोशियाँ को पढ़ लेती है।

4.

जिसने दी है जिंदगी और चलना सिखाया है,
वो माँ मेरी तो उस भगवान का साया है।

5.

आज भी नींद न आये तो वो लोरियां सुनती है,
बस फर्क इतना है कि वो अब यादों में ही आती है।

6.

जो उसको ठुकरा दे उसका विनाश होता है,
माँ होती है घर में तो भगवान का वास होता है।

7.

वो जीवन में न कभी बर्बाद होता है,
जिसके सिर पर माँ का आशीर्वाद होता है।

8.

गिले शिकवे सभी दिल से साफ़ कर देती है,
मेरी कहता पर पल भर में ही माँ मुझे माफ़ कर देती है।

9.

उनके लिए हर मौसम बहार होता है,
जिनके हिस्से में माँ का प्यार होता है।

10.

उसके अल्फाजों से एक अलग सा जूनून मिलता है,
सारे जहान में बस माँ की गोद में सुकून मिलता है।

11.

मेरे लिए वो दुनिया की सबसे ख़ास हस्ती है,
उसके क़दमों में तो मेरी सारी कायनात बस्ती है।

12.

मेरे साथ अगर तेरी ममता की कहानी न होती,
मैं तो होता मगर खुशनुमा ये जवानी न होती।

13.

तेरे दिए संस्कारों ने ही मुझको आज बनाया है,
सिर पर मेरे तेरी ही दुवाओं का साया है।

14.

एक नहीं सौ जनम उस पर कुर्बान हैं,
वो सिर्फ मेरी माँ ही नहीं, मेरी भगवान् है।

15.

वो ही मेरी दौलत है और वो ही मेरी शान है,
उसके क़दमों में ही तो मेरा सारा जहान है।

16.

सारे जहाँ में जो उसको सबसे ज्यादा प्यारे हैं,
उसकी कोख से जन्में उसकी आँखों के तारे हैं।

17.

बे’गैरत है वो औलाद जो माँ को रुला देती है,
माँ तो बच्चों की हर कहता को हंसकर भुला देती है।

18.

इस दुनिया में मुझे उससे बहुत प्यार मिला है,
माँ के रूप में मुझे भगवान् का अवतार मिला है।

19.

सोया रहता हूँ मैं जब मैं माँ के पैरों में,
खोया रहता उस पल मैं जन्नत की सैरों में।

20.

कैसे भी हों हालात वो खुद को ढाल लेती है,
भूखे नहीं सोने देती माँ बच्चे पाल लेती है।

पढ़िए :- माँ पर बेहतरीन दोहे

माँ पर दो लाइन शायरी के बारे में अपने विचार हमें कमेंट बॉक्स में लिख कर अवश्य बताएं।

धन्यवाद।

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

Sandeep Kumar Singh

Sandeep Kumar Singh

ये कविताएं, शायरियां और कुछ विचार मेरी खुद की रचनाएं हैं। कुछ नकलची बंदरों ने इन्हें चुरा कर अपने ब्लॉग पर डाल लिया है। असली रचनाएं यहीं हैं। आशा करता हूँ कि यदि आप ये रचनाएं कहीं शेयर करते हैं तो हमारे ब्लॉग का लिंक साथ मे जरूर दें। मैं एक अध्यापक हूँ और अपने इस ब्लॉग क लिए खुद ही लिखता हूँ। धन्यवाद।

You may also like...

5 Responses

  1. संदीप जी, मेरा एक नया ब्लॉग 'शायरी सागर _'हरिशंकर पाण्डेय. कृपया उसे देखकर कुछ ब्लॉग सम्बंधित टिप्स अवश्य दें।
    धन्यवाद!!

  2. अभय प्रताप सिहं कहते हैं:

    सर मैं अपने फौजी स्वच्छता अभियान पर मेरे द्वारा लिखी हूयी चन्द्र लाइनों के तौर पर एक छोटी सी कविता दिल💖 से
    ………………………………………..
    फौजी स्वच्छता अभियान के लोगों का मानना है देश को स्वच्छ बनाना है….
    चलाया गया एक अभियान ।
    उसका नाम रखा गया फौजी स्वच्छ्ता अभियान ।।
    हर इंसान को ठानना है इस अभियान को सफल बनाना है।
    कदम से कदम मिलायेंगे इस देश को स्वच्छ बनायेंगे ।। क्योंकि
    फौजी स्वच्छ्ता अभियान के लोगों का मानना है देश को स्वच्छ बनाना है…..
    इस अभियान के लोग दूर रहकर भी पास होते हैं ।
    तभी तो इस अभियान के लोग खाश होते हैं ।।
    इस अभियान में नयी उम्मीदों का एहसास होता है।
    तभी तो अभियान से जुड़े लोगों के अन्दर स्वच्छता के प्रति एक विश्वास होता है।। क्योंकि
    फौजी स्वच्छ्ता अभियान के लोगों का मानना है देश को स्वच्छ बनाना है….
    फौजियों द्वारा चलाये गये अभियान को लोगों ने दिल से लिया।
    तभी तो ये अभियान एक गांव से होकर हर जगह पहुँच गया।।
    इस अभियान के लोग कदम से कदम बढ़ा कर आगे बढ़ते रहेंगे।
    इस अभियान को सफल इस देश को स्वच्छ बनाते रहेंगे।। क्योंकि
    फौजी स्वच्छता अभियान के लोगों का मानना है इस देश को स्वच्छ बनाना है….
    आज हमें इस बात को मानना है अपने दिलों में ठानना है।
    इस अभियान को सफल बनाना है इस देश को स्वच्छ बनाना है।।
    इस देश के हर दिलों में इस आग को जलाना है।
    इस देश के गंदगी को , कुड़े -कचड़े को इधर – उधर फेंकने के जगह कूड़ेदान का मुँह दिखाना है।। क्योंकि
    फौजी स्वच्छ्ता अभियान के लोगों का मानना है इस देश को स्वच्छ बनाना है….
    फौजी स्वच्छ्ता अभियान टीम का कड़ा मेहनत आज रंग ला दिया ।
    हर इंसान के दिल में स्वच्छता के दिये को जला दिया।
    अंगद सिंह , संदीप परिहार , रोहित चौहान , सूरज ठाकुर , अंकित आर्मी , भास्कर सिंह , मीत पंडित , अंकुर पंडित और इस टीम से जुड़े लोगों ने इस अभियान को आगे बढाया है ।
    फौजी स्वच्छता अभियान के लोगों ने हर इंसान के दिलों में स्वच्छ्ता के दिये को जलाया है स्वच्छता के दिये को जलाया है।। क्योंकि
    फौजी स्वच्छ्ता अभियान के लोगों का मानना है इस देश को स्वच्छ बनाना है…..

    ************************

    💖 कयी जीत बाकी है कयी हार बाकी है।
    अभी तो इन परिंदों का स्वच्छ्ता के प्रति असली उड़ान बाकी है।
    यहां से चले हैं स्वच्छ्ता के प्रति नयी उम्मीदों की ओर।
    ये तो सिर्फ एक पन्ना है ।
    अभी तो पूरी किताब बाकी है
    अभी तो पूरी किताब बाकी है।💖
    ✍️ अभय प्रताप सिंह

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *