प्रेरणादायक लघु कविता :- कदम बढ़ाते चले आज हम बस अब तो जीत हमारी है |

जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए एक योजना जरूरी नहीं है। जरूरी है तो उस योज्जना पर कार्य करना। हम में से कई लोग किसी भी काम के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। किसी चीज में देर होती है तो बस उस काम को शुरू करने में। और ये देरी अनिश्चितकाल के लिए होती है। ऐसे समय में हमें हमारे लक्ष्य पर हमें जीत कैसे प्राप्त हो सकती है। ऐसे ही लोगों के लिए है ये ” प्रेरणादायक लघु कविता ”

प्रेरणादायक लघु कविता

प्रेरणादायक लघु कविता

कब से दबी पड़ी थी दिल में
जो भड़क रही चिंगारी है
कदम बढ़ाते चले आज हम
बस अब तो जीत हमारी है।

जो बीत गया सो बीत गया
हम डर-डर कर क्यों जीते हैं
बैठ अकेले में अकसर ही
क्यों ग़म के आंसू पीते हैं,
कब तक कोसेंगे किस्मत को
अब कुछ करने की बारी है
कदम बढ़ाते चले आज हम
बस अब तो जीत हमारी है।

मजबूर नहीं कमजोर नहीं
मज़बूत हो अपनी सोच सदा
इंसान हौसला रखता जब
चलता है उसके साथ खुदा,
बड़े-बड़े योद्धाओं ने भी
ऐसे ही बाज़ी मारी है
कदम बढ़ाते चले आज हम
बस अब तो जीत हमारी है।

तोड़ेंगे हम चट्टान सभी
तूफानों से लड़ जाएँगे
पार करेंगे पथ पथरीले
मंजिल अपनी हम पाएँगे,
बढे चलेंगे नहीं रुकेंगे
हमने कर ली तैयारी है
कदम बढ़ाते चले आज हम
बस अब तो जीत हमारी है।

दुनिया हमको पहचानेगी
इक दिन ये है विश्वास हमें
अभी तो बस शुरुआत है की
अब लिखना है इतिहास हमें,
अपनी तकदीर बदलने की
ली हमने जिम्मेदारी है
कदम बढ़ाते चले आज हम
बस अब तो जीत हमारी है।

कभी दुनिया में हारा नहीं
जिसने भी हार न मानी है
जग में परचम लहराता वो
करना कुछ जिसने ठानी है,
आगे बढ़ हासिल लक्ष्य करो
फिर ये दुनिया तुम्हारी है
कदम बढ़ाते चले आज हम
बस अब तो जीत हमारी है।

पढ़िए :- प्रेरणादायक कविता “घुट-घुट कर जीना छोड़ दे”

“ प्रेरणादायक लघु कविता ” के बारे में अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

धन्यवाद।

 

अभी शेयर करे
WhatsAppFacebookTwitterGoogle+BufferPin It

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

Add Comment