लोहड़ी पर कविता :- जीवन में लोहड़ी त्यौहार | लोहड़ी उत्सव पर कविता

लोहड़ी का त्यौहार भारत के उत्तर-पश्चिमी इलाके में बहुत धूमधाम के साथ मनाया जाता है। इस दिन बाजार सजे रहते हैं और आसमानों में पतंगों की बहार रहती है। नव ब्याही जोड़ी या घर में जन्मे बेटे को आशीर्वाद और प्यार देने रिश्तेदार घर आते हैं और क्या-क्या होता है लोहड़ी पर आइये पढ़ते हैं इस ‘ लोहड़ी पर कविता ‘ में :-

लोहड़ी पर कविता

लोहड़ी पर कविता

धूप हो चली तीखी-तीखी
आने वाली बसंत बहार,
ढेरों खुशियाँ लेकर आया
जीवन में लोहड़ी त्यौहार।

मौसम ने ले ली है करवट
सूरज ने बदली है चाल
कलरव करते पंछी निकले
हवा बजाती सुरमयी ताल,
रहे ठिठुरते जिससे हम सब
सर्दी की अब घटेगी मार
ढेरों खुशियाँ लेकर आया
जीवन में लोहड़ी त्यौहार।

रंग-बिरंगी उड़ी पतंगे
आसमान में दौड़ लगातीं
लड़ती-भिड़ती हैं आपस में
कट कर धरती पर आ जातीं,
भाग रहे लेने को बालक
पतंग गिरे जितनी भी बार
ढेरों खुशियाँ लेकर आया
जीवन में लोहड़ी त्यौहार।

घर-घर जाकर माँगे सबसे
बच्चे बना-बना कर टोली
दे रहे रेवड़ी, मूंगफली
सुन सब उनकी मीठी बोली,
मिलकर जश्न मनाएंगे अब
सभी बाल हो गए तैयार
ढेरों खुशियाँ लेकर आया
जीवन में लोहड़ी त्यौहार।

नव ब्याही जोड़ी हो या फिर
घर में शिशु ने है जन्म लिया
सब नातेदारों ने आकर
उनको है आशीष दिया,
आनंद ही आनंद फैला
उत्सव का छाया है खुमार
ढेरों खुशियाँ लेकर आया
जीवन में लोहड़ी त्यौहार।

सभी पड़ोसी हुए इकट्ठे
सबने घेरा एक बनाया
रखे बीच में लकड़ी उपले
आग लगा उसको जलाया,
डालते हैं रेवड़ी-गच्चक
भभक रहे हैं खूब अंगार
ढेरों खुशियाँ लेकर आया
जीवन में लोहड़ी त्यौहार।

नाच रहे सब लोकधुनों पर
लोकगीत सब मिल हैं गाते
अच्छाई अपना कर सारे
सन्देश प्रेम का फैलाते,
ठन्डे-ठन्डे इस मौसम में
गर्माहट का होता पसार
ढेरों खुशियाँ लेकर आया
जीवन में लोहड़ी त्यौहार।

पढ़िए :- सर्दी पर बेहतरीन हास्य कविताएं

‘ लोहड़ी पर कविता ‘ आपको कैसी लगी? अपने सुझाव कमेंट बॉक्स के जरिये हम तक जरूर पहुंचाएं।

धन्यवाद।

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

Sandeep Kumar Singh

Sandeep Kumar Singh

ये कविताएं, शायरियां और कुछ विचार मेरी खुद की रचनाएं हैं। कुछ नकलची बंदरों ने इन्हें चुरा कर अपने ब्लॉग पर डाल लिया है। असली रचनाएं यहीं हैं। आशा करता हूँ कि यदि आप ये रचनाएं कहीं शेयर करते हैं तो हमारे ब्लॉग का लिंक साथ मे जरूर दें। मैं एक अध्यापक हूँ और अपने इस ब्लॉग क लिए खुद ही लिखता हूँ। धन्यवाद।

You may also like...

प्रातिक्रिया दे

हमें ख़ुशी है की हमारे लेख के बारे में आप अपने विचार देना चाहते है, परन्तु ध्यान रहे हम सारे कमेंट को हमारे कमेंट पालिसी के आधार पर स्वीकार करते है।