Desh Bhakti Shayari In Hindi | Watan Shayari | Patriotic Shayari

Attitude Desh Bhakti Shayari In Hindi – देश भक्ति की भावना से ओत-प्रोत शायरी संग्रह। 15 अगस्त और 26 जनवरी के लिए नयी देश भक्ति शायरी ( New Deshbhakti Shayari ) :-

Desh Bhakti Shayari

Desh Bhakti Shayari

प्यारा है मुझको देश मेरा
इसकी सेवा मेरा फ़र्ज़ है,
पावन भूमि पर जन्म लिया
इसका मुझ पर यही क़र्ज़ है।


देश की सेवा करके मुझको
अपना फ़र्ज़ निभाना है,
इस पावन भूमि पर जन्मा
उसका क़र्ज़ चुकाना है।


हिन्दू, मुस्लिम, सिख, इसाई
सबका यही नारा हो,
भारत में रहने वालों को बस
भारत देश ही प्यारा हो।


तीन रंग की ध्वजा हमारे
देश की है पहचान,
यही देश की एकता
यही हमारा है सम्मान।


मस्तक पर ताज़ हिमालय का
चरणों को सागर धोता है,
माँ भारती का रूप यही
सब के मन को मोहता है।


पृथ्वीराज चौहान, शिवाजी
और राणा के वंशज हम,
हार नहीं सकते दुश्मन से
सांस भले पड़ जाए कम।


आज के पावन दिन को आओ
हम उन सबके नाम करें,
शहीद हुए जो देश की खातिर
हम सब उनको प्रणाम करें।


संघर्ष किया था वीरों ने
अपनी जान गवाई थी,
उन बलिदानों के चलते ही
हमने आज़ादी पाई थी।


जिससे हमारा वजूद
जिससे हमारी पहचान है,
तीन रंग का तिरंगा प्यारा
और हमारा हिंदुस्तान है।


अपने यदि धोखा न देते
तो शायद हम बर्बाद न होते।
गर देश भक्ति न हृदय में होती
कभी भी हम आज़ाद न होते।


पढ़िए :- देश भक्ति शेरो शायरी | Patriotic Dialogue Shayari In Hindi


Watan Shayari


जन्म लिया हमने यहीं
यहीं सुबह और शाम है,
जान से प्यारा वतन हमें
ये जान वतन के नाम है।


न कोई होली उनकी, न कोई दिवाली है
जिनके हिस्से में आई वतन की रखवाली है,
शहीद हो जाते हैं मगर हमें आबाद रखते हैं
अपनी ताकत से वो देश को आजाद रखते हैं।


वतन पर जान लुटाने की
होती सबकी औकात नहीं,
इश्क वतन से करना भी
सबके बस की बात नहीं।


कभी सामना हो जाए जो
दुश्मन को मार भगाते हैं,
वतन के रखवाले हर पल
वतन पे जान लुटाते हैं।


सरहद पे खड़े रखवालों ने
सदा अपना फ़र्ज़ निभाया है,
वतन ने दी आवाज़ कभी तो
पीछे न कदम हटाया है।


जान वतन ईमान वतन
वतन ही मेरा मज़हब है,
वतन ही मेरा ईश्वर अल्लाह
वतन का इश्क क्या ग़ज़ब है।


पढ़िए :- हिंदी हैं हम वतन ये हमारा हिंदुस्तान है | Watan Par Kavita


Attitude Desh Bhakti Shayari In Hindi


धैर्य पराक्रम वीरता यही हमारी पहचान है
ज़माना हमारी ताकत से कहाँ अनजान है,
मेहमान बनो तो सिर आँखों पर बिठाएँगे
दुश्मन बने तो सीधा भेजते श्मशान हैं।
ये आज का हिंदुस्तान है,
ये आज का हिंदुस्तान है।


महाराणा प्रताप से राजा, लक्ष्मी बाई जैसी रानी।
घर-घर में सुनाई जाती, ऐसे वीरों की कहानी।।
किसमें इतनी हिम्मत है जो आ हमसे टकराये
हमारे हौसलों के सामने दुश्मन भरता है पानी।


देशहित की भावना लिए
हम करते सारे कर्म,
देशभक्ति है जाति मेरी
है देशभक्ति ही धर्म।


धूल लगा मस्तक पर
माँ भारती से लेते आशीष,
देश पे आंच ना आने देंगे
कटता है तो कट जाए शीश।


जब तक सैनिक कर रहे
हिफाज़त मेरे वतन की,
आंख उठा कर देश सके
औकात नहीं है दुश्मन की।


जिसने अपनी पहचान दी मुझको
मुझे उसका मान बढ़ाना है,
अब तक काम वतन आया है
अब मुझे काम वतन के आना है।


पढ़िए :- देश प्रेम पर 10 अप्रतिम उद्धरण | Desh Bhakti Suvichar


2 Line Tiranga Shayari


इससे देश की आन है, इससे देश की शान,
तीन रंग का कपड़ा नहीं, यह है भारत का सम्मान।


गर्व से शीश उठ जाता है
जब तिरंगा कहीं लहराता है।


तीन रंग में रंग हुआ सारे जग से न्यारा है,
सुनो तिरंगा हमे हमारा प्राणों से भी प्यारा है।


लहराता है नील गगन में ऊंची जिसकी शान है,
महज एक झंडा नहीं तिरंगा देश की पहचान है।


शहादत के बाग़ में जो भी गुल खिलता है,
उसी किस्मत वाले को कफ़न तिरंगा मिलता है।


पढ़िए :- राष्ट्रीय ध्वज को समर्पित शायरी | Tiranga Shayari


देश भक्ति शयर्री संग्रह का विडियो यहाँ देखें :-

Patriotic Shayari In Hindi | Deshbhakti Shayari | देश भक्ति शायरी 15 अगस्त और 26 जनवरी के लिए शायरी

Desh Bhakti Shayari In Hindi में आपको कौन सा शेर अच्छा लगा? हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

धन्यवाद।

Add Comment

Safalta, Kamyabi par Badhai Sandesh Card Sanskrit Bhasha ka Mahatva in Hindi Surya Ke Bare Mein Jankari | Surya Ka Tapman Vyas Prithvi Se Doori 25 Famous Deshbhakti Naare and Slogan आधुनिक महापुरुषों के गुरु कौन थे?