विश्व के महासागर के नाम और उनके बारे में रोचक जानकारियाँ

विश्व के महासागर के बारे में आप कितना जानते हैं? हो सकता है आप बहुत कुछ जानते हो या हो सकता है की कुछ भी ना जानते हो। दोनों ही बातो में ये लेख आपको जरुर पढ़ना चाहिए।

विश्व महासागरों के बारे में जानकारी अक्सर अधिकतर लोगों को नहीं होती और लोग इनके बारे में कुछ भी जानने या पढ़ने में रूचि भी नही लेते। लेकिन अगर कभी आपके बच्चे या आपके घर में पढ़ने वाला कोई भी कभी विश्व के महासागर के बारे में कुछ पूछ ले तो?

अगर किसी सामान्य ज्ञान, या किसी नामी प्रवेश और प्रतियोगिता परीक्षाओ में इसके बारे को कोई सवाल पूछा गया हो तो? ऐसे ही कई मौके आते है जब इन सामान्य सवालो के जवाब के लिए हम माथा पच्ची करते रहते है लेकिन जवाब नहीं मिलता।

इन्हीं कारणों से हम यहा अप्रतिम ब्लॉग में ऐसे कुछ सामान्य और कुछ विशेष सारे प्रकार की जानकारियाँ हमारे पाठकों तक पहुंचाते रहते है, जिससे उनका सामान्य ज्ञान भी बढ़े और जरुरत के समय ये जानकारियाँ उनके काम भी आये।

आज हमने विश्व के महासागर के बारे में जितना संभव हमसे हो सका उतनी जानकारी (समुद्र के बारे में रोचक तथ्य यहा पढ़े) आपके सामने लाये है।


विश्व के महासागर और उनकी रोचक जानकारियाँ

विश्व के महासागर

➽महासागर या समुद्र किसे कहते है?

धरती का 70% भाग जल से घिरा हुआ है। इसमें खारा पानी है, बर्फ की चट्टानें हैं और जलीय जीवन है। पृथ्वी के यही जल से भरे विशाल भाग, जिसमे पृथ्वी के स्थल भाग तैरते प्रतीत होते है, महासागर या समुद्र कहलाते है। महासागर की कोई सीमा नहीं होती। इसकी सीमा वही है जहाँ तक ये फैला है। ये एक विशाल क्षेत्र को घेरे हुए हैं। सात महाद्वीपों को यही आपस में जोड़ते हैं और इन्हीं महासागरों के रास्तों के जरिये पुरातन समय से व्यापर किया जा रहा है। विश्व में पांच महासागर है, जिनका विस्तार से वर्णन हम आगे जानेंगे।

➽कितने बड़े है महासागर?

पृथ्वी के क्षेत्रफल का 29% हिस्सा भू-भाग है और 71% जोकि 36.1 करोड़ की.मी. है, भाग जल से घिरा हुआ है। जलमंडल का प्रमुख भाग महासागर है। महासागर खारे पानी का एक विशाल क्षेत्र है। यह लगभग 36.1 करोड़ वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है। महासागर के धरती पर बहुत विशालता से फैले होने के कारण इसे जल ग्रह भी कहा जाता है।

➽महासागर की अधिकतम गहराई कितनी है?

महासागर की औसतन गहराई 3700 मीटर तक गहरा है। 2010 में यूनाइटेड स्टेट्स सेंटर फॉर कोस्टल एंड ओसियन मैपिंग ( United States Center for Coastal & Ocean Mapping ) के नाप के अनुसार महासागर की सबसे ज्यादा गहराई 10,994 मीटर है। यह इतना गहरा है कि यदि माउंट एवेरेस्ट, जोकि धरती पर सबसे ऊंचा पहाड़ है, को अगर इस जगह में डाल दिया जाए तो इसकी चोटी से ऊपर 1 मील तक पानी रहेगा।



➽कितना पानी है महासागरो में?

यू एस जियोलाजिकल सर्वे ( U.S. Geological Survey ) के अनुसार महासागरों में 1,386,000,000 क्यूबिक किलोमीटर (km3) पानी है। अगर धरती की सतह को समतल कर उस पर महासागरों का पानी रख कर गहराई नापी जाए तो यह 2.25 की.मी. मोटी परत बन जायेगी। यह इतना पानी है जिससे 1 गैलन के आकार के 352,627,000,000,000,000,000 कंटेनर भरे जा सकते हैं।

➽समुद्र के अन्दर जीवन

महासागरों में कई प्रकार की प्रजातियाँ पायी जाती हैं। लगभग 20 लाख से ऊपर प्रजातियाँ महासागर में मौजूद हैं जिनमें से 230,000 प्रजातियों को पहचान लिया गया है। बाकी प्रजातियों के बारे में खोजबीन चल रही है।

विश्व के पाँच महासागर

पृथ्वी पर पांच प्रकार के महासागर हैं।

1. प्रशांत महासागर ( Pacific Ocean )
2. अंध महासागर ( Atlantic Ocean )
3. हिन्द महासागर ( Indian Ocean )
4. दक्षिण ध्रुवीय महासागर ( Antarctic Ocean )
5. उत्तर ध्रुवीय महासागर ( Arctic Ocean )


1. प्रशांत महासागर ( Pacific Ocean )

प्रशांत महासागर सबसे बड़ा और सबसे गहरा महासागर है। यहाँ पर भू-भाग कम है और जलीय क्षेत्र ज्यादा है।

➥प्रशांत महासगर क्यों कहा जाता है?

हर नाम के पीछे कोई-कोई राज या अर्थ जरूर होता है इसी तरह प्रशांत महासागर के नाम के साथ भी एक कहानी जुड़ी हुयी है। प्रशांत महासागर का नाम प्रशांत इसलिए पड़ा कि यह महासागर अटलांटिक महासागर की तुलना में काफी शांत दिखने वाला (प्रशांत-शांत रहने वाला) है। इसका यह नाम पुर्तगाली अन्वेषक मैगलन ने रखा था। मैगलन एक ऐसा साहसिक अन्वेषक था जिसने पृथ्वी की परिक्रमा करने वाले पहले अभियान दल का नेतृत्व किया था। मैगलन जब तूफानी अटलांटिक महासागर को पार कर प्रशांत महासागर में आया तो इस महासागर का जल उसे अटलांटिक की तुलना में काफी शांत दिखा, अतः इसका नाम प्रशांत महासागर पड़ा।

➥प्रशांत महासागर का क्षेत्रफल और आकार

धरती के 30% भाग पर अधिकार जताए प्रशांत महासागर की आकृति त्रिभुजाकार है। इसका क्षेत्रफल 16,18,00,000 वर्ग की.मी., अर्थात अटलांटिक महासागर के दुगुने से थोड़ा कम है। यह फिलिपींस तट से लेकर पनामा 9,455 मील चौड़ा तथा बेरिंग जलडमरूमध्य से लेकर दक्षिण अंटार्कटिका तक 10,492 मील लंबा है। यह समस्त भूभाग से ला मील अधिक क्षेत्र में फैला है। इसका उत्तरी किनारा केवल 36 मील का बेरिंग जलडमरूमध्य द्वारा आर्कटिक सागर से जुडा है।

➥प्रशांत महासागर की गहराई और उसमें पानी

प्रशांत महासागर की औसत गहराई लगभग 4000 मीटर है तथा अधिकतम गहराई लगभग 11000 मीटर है। सभी महासागरों का 50.1% जल समाहित किये इस महासागर में अंध महासागर से दोगुना पानी है। जिसकी मात्रा 70,75,00,000 क्यूबिक किलोमीटर पानी है।

आगे पढ़े पेज २ पर>>

अभी शेयर करे
WhatsAppFacebookTwitterGoogle+BufferPin It

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

62 Comments

  1. Avatar Prashant Kumar SP
  2. Avatar ritik dwivedi
  3. Avatar योगेश श्रीवास्तव
    • Sandeep Kumar Singh Sandeep Kumar Singh
  4. Avatar AK RAJA
  5. Avatar Mukesh Kumar
  6. Avatar Vishvendra Singh
  7. Avatar Shivam
  8. Avatar Nilesh mishra
  9. Avatar Satish Chand
  10. Avatar Anurag
  11. Avatar Prem Kumar
  12. Avatar सुरेश बिश्नोई
  13. Avatar Nawed mohammad
  14. Avatar Saurabh kumar
  15. Avatar saurabhmaheshwari
  16. Avatar YOGESH JAISWAL
  17. Avatar Kawaljit Singh
  18. Avatar Chandan kumar
  19. Avatar Sandeep chauhan
  20. Avatar Rahul Rana
  21. Avatar Anoop pushkar
  22. Avatar Vinay PRATAP singh
  23. Avatar सतीश चौरसिया
  24. Avatar Amir R Khan
    • Sandeep Kumar Singh Sandeep Kumar Singh
  25. Avatar Aman raj kumar
  26. Avatar nikesh kumar
  27. Avatar Ravi Kumar
    • Sandeep Kumar Singh Sandeep Kumar Singh
  28. Avatar Shashank
    • Sandeep Kumar Singh Sandeep Kumar Singh
  29. Avatar Yashwant
  30. Avatar sugan kr mahto
  31. Avatar arif
  32. Avatar pj
  33. Avatar mausam
  34. Avatar Uttam gramani

Add Comment