स्वच्छ भारत अभियान पर बाल कविता :- चली है टोली बच्चों की | स्वच्छता पर कविता

भारत को स्वच्छ बनाने की छोटे बच्चों की कोशिश शब्दों में बन कर कविता के रूप में प्रस्तुत करने की एक छोटी कोशिश। आइये भारत को गंदगी मुक्त बनाने का संकल्प करें और अपने आस-पास के पर्यावरण को साफ़ व सुरक्षित रखें। इसी सन्दर्भ में आइये पढ़ते हैं स्वच्छ भारत अभियान को समर्पित अप्रतिमब्लॉग की ओर से स्वच्छ भारत अभियान पर बाल कविता :-

स्वच्छ भारत अभियान पर बाल कविता

स्वच्छ भारत अभियान पर बाल कविता

चली है टोली बच्चों की
भारत को स्वच्छ बनाने को
छोटों की छोटी कोशिश है
बड़ों को कुछ समझाने को,
चली है टोली बच्चों की
भारत को स्वच्छ बनाने को।

रिंकू, गोलू, झाड़ू लाये
मोटू, टिंकू कूड़ादान
ऐसे लगे सफाई में
जैसे आने वाला कोई मेहमान,
जोर-शोर से लगे हुए सब
मोहल्ला सुन्दर बनाने को
चली है टोली बच्चों की
भारत को स्वच्छ बनाने को।

मच्छर अब न होंगे
जो हो रही है सफाई
मलेरिया डेंगू और बिमारियों से
बचेंगे सब बहन और भाई,
मुहीम रहेगी जारी ये
सब को स्वस्थ बनाने को
चली है टोली बच्चों की
भारत को स्वच्छ बनाने को।

देख कर देखो बच्चों को
शर्मा अंकल भी हैं आये
धीरे-धीरे लोग सभी
आकर मिलकर हाथ बटायें,
आज सभी हैं आतुर
एकजुटता दिखाने को
चली है टोली बच्चों की
भारत को स्वच्छ बनाने को।

मोहल्ला हो गया साफ़
सारे शहर में खबर ये छाई
हर और से आ रही है अब
छोटे बच्चों को बधाई,
सन्देश वो देते हैं हमको
अच्छी आदत अपनाने को
चली है टोली बच्चों की
भारत को स्वच्छ बनाने को।

पढ़िए :- शिक्षाप्रद बाल कहानी ‘सकारात्मक सोच’ 

भारत को स्वच्छ रखें और दूसरों को भी आस-पास सफाई रखने के लिए प्रेरित करते रहिये। स्वच्छ भारत अभियान पर इस बाल कविता को शेयर करें और लोगों को इस अभियान के प्रति जागरूक करें। इस कविता के बारे में पानी अमूल्य राय हम तक अवश्य पहुंचाएं।

धन्यवाद।

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

Sandeep Kumar Singh

Sandeep Kumar Singh

ये कविताएं, शायरियां और कुछ विचार मेरी खुद की रचनाएं हैं। कुछ नकलची बंदरों ने इन्हें चुरा कर अपने ब्लॉग पर डाल लिया है। असली रचनाएं यहीं हैं। आशा करता हूँ कि यदि आप ये रचनाएं कहीं शेयर करते हैं तो हमारे ब्लॉग का लिंक साथ मे जरूर दें। मैं एक अध्यापक हूँ और अपने इस ब्लॉग क लिए खुद ही लिखता हूँ। धन्यवाद।

You may also like...

प्रातिक्रिया दे

हमें ख़ुशी है की हमारे लेख के बारे में आप अपने विचार देना चाहते है, परन्तु ध्यान रहे हम सारे कमेंट को हमारे कमेंट पालिसी के आधार पर स्वीकार करते है।