हिंगलिश Poem – जनता का GOD | Hinglish Poem – Janta Ka God

वर्तमान में दुनिया की परिस्थिति को बताती, हिंदी और अंग्रेजी शब्दों को साथ लेके लिखा गया हिंगलिश Poem – जनता का GOD पढ़िए।

हिंगलिश Poem – जनता का GOD

हिंगलिश Poem - जनता का GOD

सीधी साधी जिंदगी में
बहुत उतार-चढ़ाव आए हैं,
महसूस किया है मैंने
बहुत बदलाव आए हैं।
पगडंडी बन गई Road है
अब 
शरीफ बन गए Fraud हैं।
दो वक्त की रोटी दे दे जो
जनता के लिए वो God है।

आवाज गरीब की दब गई है
पैसे की खनक अब Loud है।
हो जाती हालत पतली है
फिर भी न मिलता Shroud है।
भूखे मरना Common है यहाँ
आवाज उठाना Odd है।
दो वक्त की रोटी दे दे जो
जनता के लिए वो God है।

बदल गया Culture अपना
पिता बन गए Dad हैं।
Fast हुई अब Generation
Manners अपनाते Bad हैं।
अपने बड़े बुजुर्ग बने अब
घर के Security Guard हैं।
दो वक्त की रोटी दे दे जो
जनता के लिए वो God है।

नई नई है Techno-logy
जो Use करें अब CAD हैं।
बड़े सयाने बनते सब
Internet की  चढी़ अब Fad है।
Phone नहीं दुनियादारी भी
अब रहती On Silent Mode है।
दो वक्त की रोटी दे दे जो
जनता के लिए वो God है।

है “अर्क” परेशान कि हालत
दुनिया की हो रही Dead है।
कोशिश जो की समझाने की
सब कहते हैं ये Mad है।
मेहनत करनी ही पड़ती है
सफलता का न कोई Code है।
दो वक्त की रोटी दे दे जो
जनता के लिए वो God है।


Ye Kavita Aapko Kaisa Laga Hame Jarur Bataye. Agar Achha Laga To Share Karne Me Kajusi Na Kare, It Requires No Technical Knowledge.  😛 

Thanks For Reading. Also Read These Fabulous Posts –

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!
Sandeep Kumar Singh

Sandeep Kumar Singh

ये कविताएं, शायरियां और कुछ विचार मेरी खुद की रचनाएं हैं। कुछ नकलची बंदरों ने इन्हें चुरा कर अपने ब्लॉग पर डाल लिया है। असली रचनाएं यहीं हैं। आशा करता हूँ कि यदि आप ये रचनाएं कहीं शेयर करते हैं तो हमारे ब्लॉग का लिंक साथ मे जरूर दें। मैं एक अध्यापक हूँ और अपने इस ब्लॉग क लिए खुद ही लिखता हूँ। धन्यवाद।

You may also like...

4 Responses

प्रातिक्रिया दे

हमें ख़ुशी है की हमारे लेख के बारे में आप अपने विचार देना चाहते है, परन्तु ध्यान रहे हम सारे कमेंट को हमारे कमेंट पालिसी के आधार पर स्वीकार करते है।