सुखी और सफल जीवन के सूत्र :- सफलता का रहस्य बताती पुस्तक

सूचना: दूसरे ब्लॉगर, Youtube चैनल और फेसबुक पेज वाले, कृपया बिना अनुमति हमारी रचनाएँ चोरी ना करे। हम कॉपीराइट क्लेम कर सकते है।
रचना पसंद आये तो हमारे प्रोत्साहन के लिए कमेंट जरुर करें। हमारा प्रयास रहेगा कि हम ऐसी रचनाएँ आपके लिए आगे भी लाते रहें।

सुखी और सफल जीवन के सूत्र आज हर इंसान ढूंढता है। आज के समय में इंसान के अन्दर धैर्य नाम की कोई चीज नहीं बची है। क्या आप भी उनमें से एक हैं? क्या आपको भी जल्दी-जल्दी गुस्सा आता है? गुस्सा आने पर क्या होता है? आप जोर-जोर से सांस लेते हैं। और आप सांस, जुबान, मस्तिष्क, हाथ-पैर आदि पर नियंत्रण खो देते हैं। आप अपने इसी गुस्से पर नियंत्रण चाहते हैं, तो शिवशंकर सनगले जी द्वारा रचित ये किताब ” सुखी और सफल जीवन के सूत्र ” आपके बहुत काम की है।

सुखी और सफल जीवन के सूत्र

सुखी और सफल जीवन

सभी अध्याय एक विषय को लेकर लिखे गए हैं। जिनमें से कुछ अध्यायों और विषयों के बारे में हम यहाँ बताएँगे :-

पहले दो अध्याय हैं “अपने मन पर नियंत्रण पायें” और “अपने मन को नियंत्रित करने कला”

पहले अध्याय में श्री श्री रविशंकर जी के द्वारा चलाये जाने वाले एक कोर्स आर्ट ऑफ़ लिविंग में सिखाई जाने वाली सुदर्शन क्रिया के बारे में लेखक ने विस्तार से चर्चा की है। जिसका पालन कर आप अपने जीवन को सुखमय और प्रगतिशील बना सकते हैं। आपका गुस्सा पूर्ण रूप से आपके नियंत्रण में आ जायेगा।

दूसरे अध्याय में सुदर्शन योग के बाद मन

मन को नियंत्रित करने का जितना सरल ढंग लेखक ने बताया है वैसा मैंने आज तक किसी भी किताब में नहीं पढ़ा। महाभारत के श्लोक

“यतो यतो निश्चलती मनस चंचलम अस्थिरम।
ततो ततो नियमित आत्मन यव वंशम नायेत।”

से भी यह बात बताई गयी है कि बार-बार मन को भटकने से रोक कर ही उस पर नियंत्रण पाया जा सकता है।

तीसरा अध्याय :- कृतज्ञता

जीवन में कृतज्ञता का भाव रखने से क्या परिवर्तन आते हैं और किन-किन चीजों के प्रति हमारे मन में कृतज्ञता का भाव होना चाहिए आप इस अध्याय में पढ़ सकते हैं।

इसके साथ ही जैसे-जैसे आप किताब आगे पढ़ते जायेंगे आप पाएंगे कि इस किताब में लिखी बातें पहले से ही कई महान किताबों में बताई गयी है। मगर उन किताबों में 2-3 विषय पर ही बात की जाती है। इस किताब में आपको जीवन सरल और सफल बनाने के जो भी ढंग बताये गए हैं। जिनमें विश्वास प्रणाली, प्लेसिबो परिणाम, प्राणायाम, कुंडलिनी जागरण, सफलता और आकर्षण का सिद्धांत, अवचेतन मन का नियंत्रण,पानी और भोजन के नियम के बारे में इतनी सरलता से समझाया है कि कोई भी साधारण इन्सान समझ सकता है।

निश्चित तौर पर यदि  जीवन  में आप सफल होना चाहते हैं तो आप इस किताब में दिए गए तरीकों को अपना कर अपने जीवन में बदलाव ला सकते हैं।

याद रखिये आप का जीवन आप ही बदल सकते हैं। ये किताब आपकी सहायता तभी कर सकती है यदि आप इसमें लिखे तरीकों को संकल्पबद्ध होकर अपनाते हैं।

इस किताब ” सुखी और सफल जीवन के सूत्र ” के बारे में अच्छी तरह जानने के लिए इसका थोड़ा सा अंश पीडीऍफ़ के रूप में यहाँ पढ़ सकते हैं :-

Download: सुखी और सफल जीवन के सूत्र sample pdf

पूरी किताब आप यहाँ खरीद सकते है:


सुखी और सफल जीवन के सूत्र Hindi Ebook

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on email
Email

1 thought on “सुखी और सफल जीवन के सूत्र :- सफलता का रहस्य बताती पुस्तक”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *