फिल्मो से कुछ रोचक और प्रेरक डायलाग | हॉलीवुड फिल्म डॉक्टर स्ट्रेंज

फ़िल्में तो आप सब देखते होंगे। उनके डायलाग भी सुनते होंगे। लेकिन उन पर ध्यान कौन देता है और याद कौन रखता है? ये डायलाग सिर्फ डायलाग नहीं होते। इनके अन्दर एक बहुत बड़ा सन्देश छुपा होता है जो हमें जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है। इसी सन्दर्भ में हम कुछ चुनिन्दा और बेहतरीन फिल्मों से रोचक और प्रेरक डायलाग लेकर आये हैं जो आपमें एक उत्साह भर देगा और जिंदगी जीने के नए मायने दे देगा। मगर इसके लिए कुछ जरूरी है तो बस ध्यान। तो आइये पढ़ते हैं मोटिवेशनल डायलॉग्स का पहला संग्रह :- ‘ हॉलीवुड फिल्म डॉक्टर स्ट्रेंज के रोचक और प्रेरक डायलाग ‘

हॉलीवुड फिल्म डॉ स्ट्रेंज के रोचक और प्रेरक डायलाग

हॉलीवुड फिल्म डॉ स्ट्रेंज के रोचक और प्रेरक डायलाग

1. अपने गुरु पर भरोसा करो, अपनी राह कभी मत छोड़ो।

2. लड़ो, ये जिंदगी और मौत का सवाल है क्योंकि किसी रोज ऐसा हो सकता है।

3.हम अपने अन्दर के शैतान को कभी हरा नहीं सकते, सिर्फ उससे ऊपर उठ सकते हैं।

4. तुम नदी को काबू में नहीं कर सकते। तुम्हें उसके बहाव के आगे झुकना होगा, उसकी ताकत को अपना बनाना होगा।

5. बस तुम्हें पूरा ध्यान लगाना ओगा, मंजिल को अपने दिमाग में देखो। अपने सामने की दुनिया से आगे बढ़कर हर चीज की कल्पना करो। तस्वीर जितनी साफ़ होगी उतनी जल्दी और आसानी से तुम्हें अपनी मंजिल मिल जाएगी।

6. तुम्हारा ज्ञान तुम्हें काफी ऊँचाई तक ले गया है, पर और आगे नहीं ले जा पाएगा। समर्पण करो, अपने घमंड को त्यागो और तुम्हारी ताकत और बुलंद हो जाएगी।

7. तुम उसी भ्रम में जीना चाहते हो अहन सब कुछ तुम्हारी मुट्ठी में हो, यहाँ तक की मौत भी, जिसे कोई काबू नहीं कर सकता।

8. तुममें अच्छाइयों का भंडार है, तुम हमेशा अव्वल रहे इसलिए नहीं कि तुम्हें कामयाबी की चाह थी, इसलिए कि तुम्हें नाकामयाबी का डर था। इसी चीज ने तुम्हें महानता से दूर रखा।

9. अब भी घमंड और डर तुम्हें सबसे आसान और अहम सबक सीखने से रोकते हैं।

10. कभी -कभी सबके फायदे के लिए नियम तोडना जरूरी होता है।

11. मौत ही जिंदगी को मायने देती है और बताती है हमारे दिन के  बीच में और वक़्त सीमित है।

12. मैं जानता हूँ मैं जीत नहीं सकता लेकिन हार तो सकता हूँ, एक बार, दो बार, बार-बार हमेशा के लिए। शायद मैं जीत जाऊं।

आपको यह फिल्म डॉक्टर स्ट्रेंज के रोचक और प्रेरक डायलाग ‘ कैसा लगा हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। धन्यवाद।

पढ़िए और भी प्रेरणादायी विचार हमारे इन संग्रहों में :-

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

Sandeep Kumar Singh

Sandeep Kumar Singh

ये कविताएं, शायरियां और कुछ विचार मेरी खुद की रचनाएं हैं। कुछ नकलची बंदरों ने इन्हें चुरा कर अपने ब्लॉग पर डाल लिया है। असली रचनाएं यहीं हैं। आशा करता हूँ कि यदि आप ये रचनाएं कहीं शेयर करते हैं तो हमारे ब्लॉग का लिंक साथ मे जरूर दें। मैं एक अध्यापक हूँ और अपने इस ब्लॉग क लिए खुद ही लिखता हूँ। धन्यवाद।

You may also like...

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *