प्यार पर महापुरुषों के अनमोल विचार | इतिहास के कुछ महान लोगों के प्यार के बारे में राय

प्यार एक ऐसा एहसास जिसके आगे दुनिया की हर चीज बेकार लगती है। प्यार की ताकत को ही दुनिया की सबसे बड़ी ताकत माना गया है। इतिहास में कई लोगों ने प्यार के बारे में अपने अनमोल विचार दिये हैं। आइये आज पढ़ते हैं ऐसे ही कुछ दिये गए प्यार पर महापुरुषों के अनमोल विचार :-

प्यार पर महापुरुषों के अनमोल विचार

प्यार पर महापुरुषों के अनमोल विचार

1. अंधकार से अंधकार नहीं मिटाया जा सकता, यह कार्य प्रकाश ही कर सकता है। इसी तरह नफरत से नफरत को ख़त्म नहीं की जा सकती, प्यार से किया जा सकती है।
-मार्टिन लूथर किंग

2. प्यार ही एक ऐसी ताकत है जो दुश्मन को दोस्त बनाने में सक्षम है।
-मार्टिन लूथर किंग

3. सभी को प्यार करें, कुछ पर भरोसा करें, किसी के साथ गलत न करें।
-विलियम शेक्सपीयर

4. जहाँ प्यार है, वहाँ जीवन है।
-महात्मा गाँधी

5. एक फूल धूप के बिना खिल नहीं सकता, और मनुष्य प्यार के बिना नहीं रह सकता।
-मैक्स मूलर

6. आप प्यार में गिरने के लिए गुरुत्वाकर्षण को दोषी नहीं ठहरा सकते।
-अल्बर्ट आइंस्टीन

7. प्यार और दया जरूरी है, सुख-सुविधा नहीं। उनके बिना इंसानियत नहीं सकती है।
-दलाई लामा

8. सच्चे प्यार का रास्ता कभी नहीं आसान होता।
-विलियम शेक्सपीयर

9. प्यार एक आत्मा से बना है जिसमें दो शरीर बसते हैं।
-अरस्तु

10. प्यार अपने आप सभी भाषाओं के माध्यम से अपना रास्ता खोज लेगा।
-रूमी

11. प्यार एक अंतहीन रहस्य है, क्योंकि इसकी व्याख्या करने के लिए और कुछ नहीं है।
-रबिन्द्रनाथ टैगोर

12. प्यार एक गंभीर मानसिक रोग है।
-प्लेटो

13. हम हमेशा मुस्कान के साथ एक दूसरे से मिलते हैं, क्योंकि मुस्कुराहट प्यार की शुरुआत है।
-मदर टेरेसा

14. प्रेम का अधिकार नहीं जताता बल्कि स्वतंत्रता देता है।
-रबिन्द्रनाथ टैगोर

15. प्यार कर्तव्य से बेहतर शिक्षक है।
-अल्बर्ट आइंस्टीन

16. प्यार के स्पर्श में हर कोई एक कवि बन जाता है।
-प्लेटो

17. सब कुछ, जो कुछ मैं समझता हूँ, मैं केवल इसलिए समझता हूं क्योंकि मैं प्यार करता हूँ।
-लियो टॉलस्टॉय

18. अनुपस्थिति प्यार को बढाती है, उपस्थिति इसे मजबूत करती है।
-बेंजामिन फ्रैंकलिन

19. बिना किसी कारण के प्यार लंबे समय तक रहता है।
-अज्ञात

20. प्यार आत्मा का सौंदर्य है।
-संत ऑगस्टाइन

प्यार पर महापुरुषों के अनमोल विचार पर अपनी राय जरूर दें और यदि आप सोचते हैं की इनमे कुछ और विचार होने चाहिए जो नहीं है तो बेझिझक कमेंट बॉक्स में लिखें।

धन्यवाद।

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

Sandeep Kumar Singh

Sandeep Kumar Singh

ये कविताएं, शायरियां और कुछ विचार मेरी खुद की रचनाएं हैं। कुछ नकलची बंदरों ने इन्हें चुरा कर अपने ब्लॉग पर डाल लिया है। असली रचनाएं यहीं हैं। आशा करता हूँ कि यदि आप ये रचनाएं कहीं शेयर करते हैं तो हमारे ब्लॉग का लिंक साथ मे जरूर दें। मैं एक अध्यापक हूँ और अपने इस ब्लॉग क लिए खुद ही लिखता हूँ। धन्यवाद।

You may also like...

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *