मजेदार हिंदी चुटकुले और हास्य किस्से कहानियाँ – १ | Funny Short Stories

मजेदार हिंदी चुटकुले और हास्य कहानी का संग्रह पढ़े –

मजेदार हिंदी चुटकुले और हास्य कहानी – 1

प्राइमरी स्कूल के मास्टर जी

प्राइमरी स्कूल में मास्टर जी गहरी नींद मे सो रहे थे।
तभी कलेक्टर साहब आ गये।
मास्टर जी पकडे गये।
बहुत देर उठाने के बाद मास्टर की नींद खुली।
नीन्द खुलते ही मास्टर कलेक्टर को देखते ही बोले –
तो बच्चों, समझ गए ना, कुंभकर्ण ऐसे सोता था।

कलेक्टर साहब सन्न


पप्पू और भिखारी

पप्पू को एक भिखारी मंदिर के बाहर मिला !
भिखारी :- भगवान के नाम पर कुछ दे दो साहब, चार दिन से कुछ नहीं खाया !
पप्पू 500 का नोट निकालते हुए बोला 400 खुले है।
भिखारी :- हां, जी साहब है।
पप्पू :- तो साले उससे कुछ लेकर खा ले।

पढ़िए :- मजेदार ज्ञान की बातें जिंदगी के सफ़र से


जग्गा की सूझ-बुझ

जग्गा और एक लड़की का चक्कर था। जग्गा का उस लड़की के घर वालो से पहचान भी हो गया था, तो उनके यहाँ उसका आना जाना भी चल जाता था।

कुछ दिनों से जग्गा और उस लड़की का किसी बात पे झगड़ा चल रहा था। एक दिन जग्गा ने आर या पर करने की ठानी। उसने एक मौका देख के जब उस लड़की के घर उस लड़की के अलावा और कोई नही था, वो एक डिब्बे में मिटटी का तेल(करोसिन) लेके चला गया।

थोड़ी देर बहस करने के बाद जग्गा ने सारी मिटटी का तेल अपने ऊपर उड़ेल दिया। उसके बाद वो लड़की को आग लगाने के बात से डराने लगा। लेकिन उसी वक़्त लड़की के पिताजी घर आ गये।

जग्गा को मिटटी तेल में तर-बतर देख उसके लड़की के पिताजी ने पूछा,
“जग्गा ये क्या हो रहा है यहाँ..”

जग्गा उसके अचानक से आ जाने से हक्का बक्का रहा गया। फिर बात बनाते हुए बोला,
“कुछ नही अंकल जी, इस ऊपर सज्जे में मिटटी का तेल रखा था डिब्बे में, वो मेरे ऊपर आ गिरा….”

लड़की के पापा सॉक्स, जग्गा रॉक्स.

मजेदार किस्से और कहानियाँ – 2

पढ़िए इसी तरह के और भी मजेदार लेख-

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

Chandan Bais

Chandan Bais

नमस्कार दोस्तों! मेरा नाम चन्दन बैस है। उम्मीद है मेरा ये लेख आपको पसंद आया होगा। हमारी कोशिश हमेशा यही है की इस ब्लॉग के जरिये आप लोगो तक अच्छी, मजेदार, रोचक और जानकारीपूर्ण लेख पहुंचाते रहे! आप भी सहयोग करे..! धन्यवाद! मुझसे जुड़ने के लिए आप यहा जा सकते है => Chandan Bais

You may also like...

9 Responses

  1. dashrath rajpurohit कहते हैं:

    i want to post blogs

  2. अयाझ कहते हैं:

    आघुनिक युग के कछुए और खरगोश की कहानी मझेदार । हम सब या तो कछुए हैँ या तो खरगोश ।

  3. Mohit कहते हैं:

    वह मजा आ गया, ज़ोरदार ज़बरदस्त जिंदाबाद
    धन्यवाद

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *