Tagged: Kavita

अख़बार – खबर वही डेट नयी | अख़बार पर एक हिंदी कविता

अकसर देखा जाता है कि अख़बार पढ़ना कई लोगों की आदत होती है। सुबह और कुछ मिले न मिले उन्हें अख़बार जरूर मिलना चाहिए। सबको ये उम्मीद रहती है की...

beti bachao

बेटी बचाओ कविता – बदल रहा ये देश ये दुनिया | Save Girl Child Hindi Poem

हमारे देश में अकसर ये देखा जाता है कि लोग किसी के साथ कुछ बुरा होने पर एकजुट हो जाते हैं। लेकिन ऐसी नौबत आती क्यों है? इस समय हमारे...

पंछी - एक प्रेरणा

पंछी पर कविता – पंछी एक प्रेरणा | An Inspirational Hindi Poem On Birds

इंसान की जिंदगी में कई दफा ऐसे पल आते हैं, जब वो अपनी परिस्थितियों से हार मान लेता है। लेकिन इंसान की हार उसकी सोच पर निर्भर करती है। अगर...