Tagged: माता पिता को समर्पित कविताएँ

पिता जी को समर्पित कविता

पिता जी को समर्पित कविता :- आज फिर तुमको आवाज़ लगाता हूँ

एक पिता की कीमत हमें अक्सर उनके जाने के बाद ही पता लगती है। मगर तब कुछ बचता है तो बस यादें। उन यादों के सहारे ही हम उनको अपने...

पिता और पुत्र पर कविता

पिता और पुत्र पर कविता :- पिता पुत्र की पहचान होता है | बाप-बेटे के रिश्ते पर कविता

जीवन में अगर किसी पुरुष का कोई सच्चा मित्र होता है तो वो उसका पिता होता है। पिता ही पुत्र को चलना सीखाता है और जब तक जीवित रहता है...

माँ की लोरी कविता :- बचपन की यादें समेटे हुए एक प्यारी सी कविता भाग – 3

बचपन की यादें हमारे साथ सारी जिंदगी रहती हैं। यही वो पल होते हैं जो हमें हर अवस्था में अछे लगते हैं और फिर से उसी बचपन में लौट जाने...

प्यार का मतलब

माँ की दुआ ही सबसे ज्यादा काम आती हैं | माँ की दुआएं हिंदी कविता

इश्वर की सबसे सुन्दर रचना है नारी और नारी रूप में सबसे ज्यादा पूजनीय है ‘माँ।’ माँ की महिमा का बखान तो सारा जग करता है। ऐसा अक्सर कहा जाता...

पापा की याद में कविता

पापा की याद में कविता :- खाली कुर्सी देख के पापा | Father’s Day Special

किसी के चले जाने बाद उसकी याद तो साथ ही रहती है। साथ ही उस से जुडी चीजें भी उसकी कमी का अहसास करवाती रहती हैं। वो हमारे दिल के...

माँ की अहमियत

माँ की अहमियत :- माँ की याद में रुला देने वाली हिंदी कविता

माँ की याद में आप इस ब्लॉग पर पहले ही कुछ कविताएँ पढ़ चुके हैं। पर माँ के बारे में जितना भी लिखते जाओ उतना ही कम होगा। फिर भी...