Tagged: बाल कवितायेँ

छोटे भाई पर कविता

छोटे भाई पर कविता :- राम को जैसे मिले थे लक्ष्मण | भाई भाई के लिए कविता

इस कविता के भाव वही पाठक समझ सकते हैं जिनका कोई छोटा भाई है। छोटा होने की वजह से वो सबका लाडला तो होता ही है साथ ही शैतान भी बहुत होता है। घर...

माँ की लोरी कविता :- बचपन की यादें समेटे हुए एक प्यारी सी कविता भाग – 3

बचपन की यादें हमारे साथ सारी जिंदगी रहती हैं। यही वो पल होते हैं जो हमें हर अवस्था में अछे लगते हैं और फिर से उसी बचपन में लौट जाने का दिल करता है।...

देश भक्ति बाल कविताएँ

देश भक्ति बाल कविताएँ :- ये देश है प्यारा भारत मेरा और माँ मुझको बन्दूक दिला दो

जब देश भक्ति की बात आती है तो भारत में सिर्फ बड़े ही नहीं बच्चे भी जोश से भर जाते हैं। बच्चों में अगर बचपन से ही देश भक्ति की भावना आ जाती है...

यदि परीक्षा न होती तो

यदि परीक्षा न होती तो – परीक्षा पर छोटी ज्ञानवर्धक बाल कविता हिंदी में

कभी सोचा है आपने यदि परीक्षा न होती तो कैसा होता ? कैसा होता जब किसी को परीक्षा की कोई चिंता ही न होती तो ? शायद ही आपने कभी ऐसा सोचा हो और...

पिता और पुत्र पर कविता

पिता पापा डैडी पर छोटी कविताएँ | पिता के चरणों में एक भेंट

पिता, जिनके नाम से ही एक परिवार का नाम जाना जाता है। हमारे नाम को भी उन्हीं के नाम से पहचान मिलती है। पिता का प्यार तो उनकी डांट में छिपा होता है। जिसकी...

बच्चों की कवितायें

बच्चों की कवितायें :- मैं भी स्कूल में जाऊंगा और चलो चलें स्कूल

बचपन में अक्सर कुछ बच्चे स्कूल जाने से डरते हैं और स्कूल जाने के समय रोना शुरू कर देते हैं। लेकिन कुछ बच्चे ऐसे होते हैं जिनमें स्कूल जाने कि उत्सुकता होती है। ऐसे...