Tagged: प्रेम कविताएँ

प्रेम भरी कविता

प्रेम की कविता :- जब से हो तुम मेरे इस जीवन में आई | प्रेम मिलन कविता

जीवन में किसी के आगमन से आने वाली  खुशियों का वर्णन करती ‘ प्रेम की कविता ‘ :- प्रेम की कविता जब से हो तुम मेरे इस जीवन में आई।...

प्रेम विरह कविता

प्रेम विरह कविता :- तड़पने लगा हूँ खुद में मैं | प्रेम वियोग कविता

एक प्रेमी के हृदय की तड़प को शब्दों में व्यक्त करती कविता ‘ प्रेम विरह कविता ‘ प्रेम विरह कविता तड़पने लगा हूँ खुद में मैं निकलने लगी चिंगारी है।...

मेरी चाहत पर कविता

मेरी चाहत पर कविता :- एक प्रेमी के दिल की भावनाओं की कविता

एक प्रेमी द्वारा लिखी अपनी प्रेमिका के प्रति भावनाओं की कविता, मेरी चाहत पर कविता :- मेरी चाहत पर कविता तेरे चेहरे से लटकी लटों को चाँद-तारों का गजरा लगा...

टूटे दिल की कविता

टूटे दिल की कविता :- गजल मेरी है जल रही | हिन्दी कविता दर्द भरी

ये कविता है एक ऐसे प्रेमी की जिसे उसकी प्रेमिका छोड़ कर चली गयी है। तब वह प्रेमी ज्येष्ठ के महीने में उसके लिए लिखी सारी गजलों को जला रहा...

मेरी चाहत पर कविता

पहले प्यार की कविता :- हर इबादत बंदगी लगने लगी | प्यार भरी कविता हिंदी में

जीवन में पहले प्यार की ख़ुशी एक ऐसी ख़ुशी होती है जिसकी बराबरी कोई नहीं कर सकता। अक्सर लोग पहले प्यार का जिक्र तभी करते हैं जब वह सफल हो...

प्रेम पर कविता

प्रेम पर कविता :- लम्हा लम्हा मेरा दिल | Prem Par Kavita

प्रेमिका के प्रेम में लिखी गयी प्रेम पर कविता :- प्रेम पर कविता लम्हा लम्हा मेरा दिल तेरी ओर आता है तेरी सूरत बिना देखे कहीं न चैन पाता है,...