Tagged: कविताएँ एवं गीत

तेरी यादें कविता :- किसी की याद में दर्द भरी कविता | यादों की किताब भाग -2

यादें उन मेहमानों की तरह होती हैं जो बिना बताये कहीं भी कभी भी मिल जाती हैं। इनके मिलते ही दिल के हर कोने में एक तूफ़ान सा मचता है। वो तूफान जिसे हम...

पिता और पुत्र पर कविता :- पिता पुत्र की पहचान होता है

जीवन में अगर किसी पुरुष का कोई सच्चा मित्र होता है तो वो उसका पिता होता है। पिता ही पुत्र को चलना सिकहता है और जब तक जीवित रहता है पुत्र को सँभालने की...

सावन पर छोटी कविता :- जीवंत हो उठता है बचपन | बचपन की यादें भाग – 4

बचपन की यादों को कौन भूल सकता है भला। यही तो जीवन का वह समय होता है जब हम खुल कर अपने जीवन का आनंद लेते हैं। इसके बाद तो जैसे -जैसे उम्र बढती...

रक्षाबंधन पर कविता :- राखी का त्यौहार | राखी पर एक छोटी कविता

रक्षाबंधन, भाई और बहन के प्रेम को दिखाता एक पवित्र पर्व। एक ऐसा पर्व जो कई भावनाओं को समाहित किये हुए है। ये राखी सरहद पर जाती है, ये राखी बहनें मायके लेकर जाती...

छोटे भाई पर कविता

छोटे भाई पर कविता :- राम को जैसे मिले थे लक्ष्मण | भाई भाई के लिए कविता

इस कविता के भाव वही पाठक समझ सकते हैं जिनका कोई छोटा भाई है। छोटा होने की वजह से वो सबका लाडला तो होता ही है साथ ही शैतान भी बहुत होता है। घर...

कर्म ही जीवन है :- कर्म करने की प्रेरणा देती हिंदी कविता | तुझे फल देंगे भगवान

श्रीमद्भगवद्गीता में भगवान् श्री कृष्ण ने कहा है कर्मण्यवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन । मा कर्मफलहेतुर्भूर्मा ते सङ्गोSस्त्वकर्मणि ।। अर्थात कर्तव्यकर्म करने में ही तेरा अधिकार है फलों में कभी नहीं। अतः तू कर्मफलका हेतु...