हिंदी कविता – कोई तो बता दो | Hindi Poem – Koi To Bata Do

पढ़िए हिंदी कविता – कोई तो बता दो । हिंदी कविता – कोई तो बता दो न जाने कब से भटक रहा हूँ, कोई तकदीर बता दो। मुझे मंजिल  पर पहुंचना है, कोई राहगीर बता...

Dilip Kumar

दिलीप कुमार और जेआरडी टाटा की पहली मुलाकात की कहानी

दिलीप कुमार और जेआरडी टाटा की ये कहानी उस समय की है जब भारतीय सिनेमा के प्रसिद्ध अभिनेता Dilip Kumar का कैरियर चरम पर था। और जब उनकी मुलाकात Jrd Tata से होता है। आइये ये...

हिंगलिश Poem – जनता का GOD | Hinglish Poem – Janta Ka God

वर्तमान में दुनिया की परिस्थिति को बताती, हिंदी और अंग्रेजी शब्दों को साथ लेके लिखा गया हिंगलिश Poem – जनता का GOD पढ़िए। हिंगलिश Poem – जनता का GOD सीधी साधी जिंदगी में बहुत उतार-चढ़ाव...

हिंदी कविता – मैं सजदे रोज करता हूँ, पूरे नहीं होते। Hindi Poem

पढ़िए- हिंदी कविता – मैं सजदे रोज करता हूँ हिंदी कविता – मैं सजदे रोज करता हूँ कशमकश है ख्वाबों की मुझे अब जागते सोते , मैं सजदे रोज करता हूँ मगर पूरे नहीं होते।...

Chicken ki khushboo

मांसाहार बनाम शाकाहार | मांसाहारी के मिथक पर सर्वाहारी व्यंग्य बाण

मांसाहार बनाम शाकाहार “वाह क्या खुशबू है।”  मन में लालच से भरे ये शब्द मुँह से अपने आप ही निकल आते है। जब पड़ोस वाले घर से या गली में चलते हुए किसी के...

Inspirational Hindi Poem

एक राह भटके हुए मुसाफ़िर की कविता: रास्ता भटक गया हूँ मै

जीवन एक सफ़र है, जिसमे हर किसी को सफ़र करना है। हम सब मुसाफिर है इस सफ़र के। इस सफ़र में रास्ते हम खुद चुनते है, कभी-कभी ये बहारो वाली और मजेदार होती है।...