जिंदगी जीने का नया अंदाज – Self Improvement With ‘WWH’

नमस्कार मित्रों, आज मैं अपनी जिंदगी के अनुभवों से सीखे हुए कुछ गुण आपको बताना चाहता हूँ। जो आपको Self Improvement करने का एक तरीका देगा जिससे आपको जिंदगी जीने का नया अंदाज मिलेगा।

जिंदगी जीने का नया अंदाज

जिंदगी जीने का नया अंदाज

अपनी जिंदगी में रोज हमारा सामना किसी ना किसी चीज से होता है। कुछ चीजें हमें खुशियां देती हैं और कुछ चीजें उदास कर देती हैं। खुशियों और ग़मों का दौर यूँ ही चलता रहता है। दुनिया में लोगों की भीड़ में कई लोग ऐसे होते हैं जो साधारण जीवन को नकार कर कुछ अलग करते हैं, और समाज में अपनी अलग पहचान बनाते हैं। उनके जिंदगी जीने का नया अंदाज होता है। बाकी दुनिया उन लोगों की दीवानी हो जाती है। और उन्हें बुलंदियों पर पंहुचा देते हैं। और कई लोग बहुत प्रयास करने के बाद भी अपनी जिंदगी नहीं बदल पाते। क्योंकि वो अपना जीवन तो बदलना चाहते हैं पर उन्हें यह नही पता की वो चीज क्या है जो जिंदगी बदलती है?

इस सवाल का जवाब “WWH” फार्मूला में है। परंतु इस फार्मुले को अपनाने से पहले जो सबसे ज्यादा जरुरी वस्तु है वो है, इंसान का सकारात्मक(Optimistic) होना। जब तक इंसान सकारात्मक(Optimistic) नहीं होता उसकी जिंदगी में नकारात्मक(pessimistic) बदलाव ही होते हैं। अब बात ये आती है की इंसान सकारात्मक(Optimistic) हो तो कैसे हो। इसक सवाल का जवाब अकसर ही नहीं मिल पाता क्योंकि जरा सी परेशानी आने पर इंसानी दिमाग नकारात्मक(pessimistic) हो जाता है। इसलिए नकारात्मक(pessimistic) विचारों से मुक्ति मिलने के बाद ही हम अपने जीवन को बदल सकते हैं। सवाल ये है की हम इन नकारात्मक(pessimistic)  विचारों से मुक्ति पाएं तो कैसे?

अपने निजी अनुभवों से मैंने कुछ तथ्य निकाले हैं और अपनी जिंदगी में इनका सकारात्मक (optimistic) असर भी देखा है।

1. अध्यात्म से जुड़ना :-

इसका सबसे सरल(easy) उपाय है अध्यात्म से जुड़ना। धार्मिक गतिविधियों से जुड़ कर हमारा मस्तिष्क एक अलग सी अनुभूति करता है और नकारात्मक(pessimistic) विचारों से दूर होने लगता है। अध्यात्म के बारे में जानकारी हासिल करते हुए हमें अच्छी बातें ही जानने को मिलती हैं और भगवान में हमारी आस्था बढ़ जाती है। जिसके बाद हम ऐसे काम करने लगते हैं जैसे कोई अद्भुत शक्ति हमारे पास है और हम अपना 100% से भी ज्यादा ध्यान अपने काम में देते हैं और काम के असफल होने की कल्पना भी नहीं करते। इसी कारण हम वो कार्य भी कर  लेते हैं जो देखने में असंभव लगते हैं।

2. जुनून(Passion) :-

जुनून(Passion) एक ऐसी चीज है जो इंसान को फर्श(Floor) से अर्श(sky) पर ले जाता है। अगर ये अच्छे काम के लिए हो। यदि यही जुनून(Passion) किसी बुरी वस्तु के लिए हो तो इंसान को बर्बाद कर देता है। किसी भी लक्ष्य को प्राप्त करने का जुनून(Passion) जब सर पे चढ़ जाता है, तो दिन-रात उस व्यक्ति को बस अपना लक्ष्य(Target) ही दिखाई पड़ता है। उसका ध्यान दुनिया से दूर हो जाता है और वह अपने लक्ष्य(Target) की ओर तेजी से बढ़ने लगता है। उसके मन से सब नकारात्मक(pessimistic)  विचार निकल जाते हैं। कुछ बाकी रहता है तो बस सद्विचार और संयम।

“जवानी है तो रगों में उबलता खून रखो,कुछ पाना है जिंदगी में तो सर पे जुनून रखो”

3. सकारात्मक (optimistic) बनने की कोशिश करना :-

हमें सदा ही सकारात्मक (optimistic) बनने की कोशिश करनी चाहिए। हो सकता है कुछ लोगों को लगता हो की ऐसा करना मुश्किल या असंभव है। परंतु इस जगत में तब तक कुछ भी कठिन या नामुमकिन नहीं है जब तक हम खुद स्वीकार ना कर लें। अगर हम विषम परिस्थितियों से गुजर रहे हैं तो आगे चल कर तीन रास्ते मिलते हैं। एक रास्ता हमें अंधकार की तरफ धकेलता है, दूसरा रास्ता हमें इसी तरह की परेशानियां दिखता रहता है और तीसरा रास्ता हमारी जिंदगी को खुशियों से भर देता है। इन रास्तों को हम ही चुनते हैं।

पहले रास्ते को हम तब चुनते है जब हम विषम परिस्थितियों में नकारात्मक(pessimistic) विचारों को ग्रहण कर लेते हैं। फिर हम ऐसे अंधकार की तरफ बढ़ जाते हैं जहाँ से निकलना मुश्किल हो जाता है और हमारा जीवन लगभग समाप्त हो जाता है।

दूसरा रास्ता वो होता है जब हम सब कुछ भगवान पर छोड़ देते हैं और स्वयं कुछ नहीं करते। उस स्थिति में हमारा जीवन दूसरे रास्ते पर चल पड़ता है और हम घुट-घुट कर अपना जीवन व्यतीत करते हैं।

जिंदगी जीने वालों के लिए तीसरा रास्ता होता है। इस रास्ते पर वो लोग ही चल पाते जो सकारात्मक (optimistic) विचारों को अपनाते हैं और जिंदगी बदलने की हिम्मत रखते हैं। वो जिंदगी को सुधारने के लिए हर जोखिम उठाते हैं और अपने जीवन को खुशियों से भर देते हैं।

Self Improvement Formula: “WWH”

ये गुण हर इंसान में होने चाहिए। तब ही WWH का फार्मूला जिंदगी में अपनाया जा सकता है। ये WWH है क्या?

WWH है

W – Why(क्यों)

W – What(क्या)

H – How(कैसे)

ये अंग्रेज़ी के तीन ऐसे शब्द हैं जिनको हम अपनी जिंदगी में लाकर अपनी और दूसरों की जिंदगी बदल सकते हैं।

W – Why(क्यों) :-

किसी भी कार्य को करने से पहले, ये सोचना बहुत जरूरी है, की हमें इस बात का ज्ञान हो कि हम ये कार्य क्यों कर रहे हैं। जब तक इस सवाल का जवाब ना पता हो, कोई भी कार्य करना व्यर्थ है। हमें ये जीवन इसलिए नहीं मिला कि हम इसे यूँ ही बिता दें। बल्कि इसलिए मिला है ताकि हम इस जीवन में अच्छे कार्य कर के और अपनी एक अलग पहचान बना कर अपना अस्तित्व सिद्ध कर सकें। वर्ना पृथ्वी पर बहुत से प्राणी हैं। जो दिन रात बस खाने से मतलब रखते हैं। अगर मनुष्य अपनी जिंदगी को सरल बनाने के लिए कुछ नहीं कर पाता तो उसमें व अन्य जीवों में कोई फर्क नहीं रह जाएगा। और ये सब हम तभी कार सकते हैं जब हमे हमारे Why(क्यों) का जवाब मिल जाएगा।

W – What(क्या) :-

Why(क्यों) के बाद आता है What(क्या)। जब हमें इस बात का ज्ञान हो जाता है की हम कोई कार्य क्यों कर रहे हैं, या क्यों करें तो अगला प्रश्न उठता है की उस कार्य को पूर्ण करने के लिए क्या किया जाए। तब What(क्या) काम आता है। जिसका जवाब हमें सही मार्गदर्शन द्वारा ही प्राप्त हो सकता है। हम स्वयं भी अपने मार्गदर्शक बन सकते हैं। परंतु उसके लिए सब से अहम् है हर वस्तु का अध्ययन करना। जब हम Why(क्यों) से आगे निकलते हैं फिर What(क्या) का उत्तर हमे अपने अनुभवों से मिल जाता है। तब आगे आता है की उस कार्य को सही ढंग से कैसे उसके अंजाम तक पहुचाया जाए। वहां शुरुआत होती है How(कैसे) की।

H – How(कैसे) :-

Why और What के बाद आता How(कैसे)। किसी भी कार्य को करने का प्रयोजन और उसे पूर्ण करने के बीच में आती है विधि कि उस कार्य को किस ढंग से पूर्ण किया जाए। सफलता के लिए ये सबसे महत्वपूर्ण है की हमें सही ढंग यानी की How(कैसे) का जवाब पता हो। ऐसा ना होने पर हम एक ऐसी चिड़िया की तरह हो जाएंगे जिसे ये तो पता होगा की उसे अपनी भूख मिटाने के लिए भोजन की तलाश करनी है  पर उड़ान भरने ना आये। ऐसे समय में वो भूख से तड़प-तड़प कर मर जाएगी। इसी तरह हमें भी अपनी काबिलीयत से कोई भी काम कैसे पूरा करना है इस बात का ज्ञान होना चाहिए।

इस तरह WWH का फार्मूला हम अपनी जिंदगी में अपार सफलता प्राप्त कर सकते हैं। और अपनी Self Improvement करके अपनी  जिंदगी अपने तरीके से जी सकते है। जिंदगी में कुछ भी असंभव नहीं है। अगर कुछ असंभव है तो वो आपकी सोच में है। अगर आपकी सोच सही नहीं होती तो दुनिया के सारे फॉर्मूले बेकार हैं। अंत में यही कहना चहूँगा :-

” कर उजाला तू मेहनत का दिया जलाकरला मौसम जहाँ सदा बहार रहे,कर हासिल ऐसा मुकाम इस जहाँ मेंतेरे बाद इस दुनिया को भी जिंदगी पर ऐतबार रहे।”

[social_warfare]

अगर ये  लेख जिंदगी जीने का नया अंदाज आपको पसंद आया तो दुसरो तक भी शेयर करे।

धन्यवाद। पढ़े ये बेहतरीन लेख-

हमसे जुड़िये
हमारे ईमेल सब्सक्राइबर लिस्ट में शामिल हो जाइये, और हमारे नये प्रेरक कहानी, कविता, रोचक जानकारी और बहुत से मजेदार पोस्ट सीधे अपने इनबॉक्स में पाए बिलकुल मुफ्त। जल्दी कीजिये।
We respect your privacy.

Sandeep Kumar Singh

बस आप लोगों ने देख लिया जीवन धन्य हो गया। इसी तरह यहाँ पधारते रहिये और हमारा उत्साह बढ़ाते रहिय्रे। वैसे अभी तो मैं एक अध्यापक हूँ साथ ही इस अपने इस ब्लॉग क लिए लिखता हूँ। लेकिन मेरे लिए महत्वपूर्ण है आप लोगों के विचार। अपने विचार हम तक अवश्य पहुंचाएं। जिससे हम उन पर काम कर के आपकी उमीदों पर खरे उतर सकें। धन्यवाद।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *