प्रेरणादायक शायरी संग्रह :- उत्साह बढ़ाने और प्रोत्साहित करने वाली शायरी

जिंदगी तो सभी जीते हैं लेकिन खास वो लोग होते हैं जो किसी खास मकसद के लिए जीते हैं। बिना मकसद के जीने वाले बस एक भीड़ का हिस्सा बन कर रह जाते हैं। वहीं जिनका मकसद होता है वो दिन रात लोगों से अलग और उनसे थोड़ा हटकर सोचते हैं। वो जिंदगी में कुछ नया हासिल करना चाहते हैं। ऐसे ही लोग तो इतिहास रचते हैं। लेकिन इन रास्तों पर कभी-कभी रास्ते में आने वाली परेशानियों से इन्सान घबरा भी जाता है। उसका हौसला टूटने लगता है। तब उसे एक प्रेरणा की जरूरत होती है। बस वही प्रेरणा हम प्रेरणादायक शायरी संग्रह में लेकर आये हैं :-

प्रेरणादायक शायरी संग्रह

 प्रेरणादायक शायरी संग्रह

1.

कदम बढाया है जो आगे तो रुकने का नाम न लो,
मत बैठो तुम थक कर जब तक विजय पताका थाम न लो।

2.

उन्हीं के क़दमों में ये सारा जहाँ होता है
जिनका आशियाना बीच आसमान होता है,
फिर तो फितरत सी बन जाती है मुश्किलों से लड़ने की
और हर मुकाम पर पहुंचना आसान होता है।

3.

कदम छोटे भी हों तो कोई फर्क नहीं पड़ता
बढ़ते रहें तो मंजिल नजदीक आती है,
ख़ाक हो जाते हैं वो जो
अपने हालातों को मानते हैं किस्मत अपनी
हौसलें बुलंद हो तो किस्मतें बदल जाती हैं।

4.

जरूरी नहीं कि हो जाए हर ख्वाहिश पूरी
उन ख्वाहिशों तक जाने वाले रस्ते भी हसीन होते हैं।

5.

मंजिलें मैंने चुनीं हैं तो रस्ते भी मेरे होंगे
है रात अँधेरी तो क्या कभी अपने सवेरे होंगे,
सपने देखें हैं तो उन्हें पूरा भी करूँगा
अपनी सपनों की नगरी में होंगे बसेरे मेरे।

6.

मेरी सोच को जो हिला न सके वो जज़्बात क्या है?
इन परेशानियों से जो हुयी हैं वो मुलाकात क्या है?
हम तो लिखने आयें हैं एक नई दास्तान धरती पर
मिटा सके जो वजूद हमारा जिंदगी की औकात क्या है?

7.

जब हालातों का सामना करना मजबूरी हो जाता है
उस वक़्त
खुद से बघवत करना जरूरी हो जाता है।

8.

खुशियाँ हो या गम हो हमें हर हाल में हँसना है,
पाना है अपनी मंजिलों को और एक नया इतिहास रचना है।

9.

लोगों की बातों का हम पर कोई असर नहीं
कोशिशों में छोड़ी हमने कोई कसर नहीं,
बीत जाएगा वक़्त मुझे मेरी मंजिल मिल जायेगी
कह दो ज़माने वालों से यहाँ मेरा बसर नहीं।

10.

तारों की सेज और चाँद का सिराहना हो
बीच आसमान में अपना ठिकाना होगा,
बस अब उड़ान में रफ़्तार बनाये रखना होगा
तभी तो क़दमों में ये जहान होगा।

11.

मंजिल जो चुनी है उसे हर हाल में हासिल करना है,
मेरी कोशिशें नाकाम हो सकती हैं मेरे इरादे नहीं।

12.

लड़खड़ा रहे हैं आज तो कल
अनुभवों का सहारा भी होगा,
आज गर्दिश में है तो क्या
कल चमकदार हमारा सितारा होगा।

13.

क्या हुआ जो आज हमारे बस में
नहीं है किस्मत हमारी
हिला देंगे दुनिया एक दिन
इतना दमदार इशारा होगा।

14.

दुनिया की सारी खुशियाँ
अपनी झोली में भर लूँगा
पहुँच जाएंगे एक दिन मंजिल पर
मैं अपने खवाबों को वो पर दूंगा।

15.

इक दिन सुन लेगा वो कि
तुम होठों पर फ़रियाद रहने दो,
उड़ेंगे तभी तो पहुंचेंगे
ये ख्यालों के पंछी अपनी मंजिलों पर
तुम यूँ करों कि
इनको आजाद रहने दो।

16.

क्या हुआ जो दौर
बदनसीबी का चल रहा है
साहब
कोयले से निकलकर ही
नायब हीरे तैयार होते हैं।

पढ़िए :- कामयाबी पर शायरी संग्रह

आपको यह प्रेरणादायक शायरी संग्रह कैसा लगा हमें जरूर बतायें। अगर आप भी रखते हैं कुछ लिखने का शौक तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ इस ब्लॉग पर प्रकाशित करवाने के लिए।

धन्यवाद।

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

Sandeep Kumar Singh

Sandeep Kumar Singh

ये कविताएं, शायरियां और कुछ विचार मेरी खुद की रचनाएं हैं। कुछ नकलची बंदरों ने इन्हें चुरा कर अपने ब्लॉग पर डाल लिया है। असली रचनाएं यहीं हैं। आशा करता हूँ कि यदि आप ये रचनाएं कहीं शेयर करते हैं तो हमारे ब्लॉग का लिंक साथ मे जरूर दें। मैं एक अध्यापक हूँ और अपने इस ब्लॉग क लिए खुद ही लिखता हूँ। धन्यवाद।

You may also like...

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *