मेहनत पर शायरी :- उद्यम और श्रम का महत्व बताता शायरी संग्रह

जिंदगी में कोई भी काम करने में मेहनत जरूर लगती है। चाहे वो शारीरिक हो या मानसिक। मेहनत करने का उद्देश्य जीवन यापन से जुड़ा होता है। हाँ मेहनत का परिणाम कई बार देर से मिलता है। लेकिन मिलता जरूर है। सफलता प्राप्त करने का आधार ही मेहनत है। आप जितनी ज्यादा मेहनत करते रहोगे उतने ज्यादा सफल होते रहोगे। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमने ये शायरी संग्रह ‘ मेहनत पर शायरी ‘ लिखा है। आशा करते हैं आपको यह शायरी संग्रह जरूर पसंद आएगा। आइये पढ़ते हैं :-

मेहनत पर शायरी

मेहनत पर शायरी

1.

मेहनत के दिए जलाये जा
सफलता के परचम लहराए जा,
दुःख सुख तो आते रहेंगे जीवन में
तू जीवन को आगे बढाए जा।

2.

मत हारना तू कभी कोशिश करने से
बड़े से बड़ा पर्वत भी हिल जाएगा,
सब्र रख कर मेहनत करता जा
इक दिन इसका फल भी मिल जाएगा।

3.
कर्म तेरे हाथों में हैं मन में आगे बढ़ने की आस
मेहनत से कभी न पीछे हटना खुद पर रखना विश्वास,
पूरे होंगे सपने फिर ही पूरी होगी सफलता की प्यास
बदल जायेगी जिंदगी तेरी तू आम से बन जगा ख़ास।

4.

मेहनत का फल है मिल ही जाता
चाहे हो जाए थोड़ी देर,
फल इतना मीठा हो इसका
कि फिर फीके लगते बेर।

5.

थाम ले बिजली बदल की
और थाम ले ये तूफान,
मेहनत की तू शक्ति से
पूरे कर अपने अरमान।

6.

रूखी-सूखी है तो क्या
ये मेहनत की रोटी है,
होगा कभी ये कद भी बड़ा
आज औकात जो छोटी है।

7.

कोई करिश्मा न कोई जादू है
जो बदला मेरा वक़्त है,
इसका राज है दृढ़ निश्चय
और साथ में मेहनत है।

8.

वक़्त के हाथों जो लुट गया है
मेहनत से वो लौट आएगा,
सब्र हर पल यूँ ही बनाये रखना
सफलता का फूल फिर खिल जाएगा।

9.

मेहनत कश इन्सान को
न होती पैसों की भूख,
खता चाहे रूखी-सूखी
पर रखता पूरा रसूख।

10.

धूप भी सहनी पड़ती है
मेहनत भी करनी पड़ती है,
यूँ ही नहीं होता कोई कामयाब
कामयाबी की भी कीमत भरनी पड़ती है।

11.

जो बुरे वक़्त को बदलने की
ख्वाहिश दिल में पाल लेते हैं,
अपनी मेहनत से वो अपनी
किस्मत की लकीरें बदल देते हैं।

12.

दिल में जज्बा और होठों पर मुस्कान हो
पसीना मेहनत का और कदमों में आसमान हो,
कुछ और तमन्ना नहीं है मेरे दिल में
बस जैसा चाहता हूँ वैसा ही मेरा जहाँ हो।

13.

जिंदगी से हर गम सौ कोस दूर मिलेगा,
वो शख्स सौ लोगों मशहूर मिलेगा,
यूँ तो हर किसी की जिंदगी ऐसी न होगी
मगर करेगा जो मेहनत उसे ये मुकाम जरूर मिलेगा।

14.

खुशियाँ कहाँ रहती हैं सदा जिंदगी में
हर शख्स पर मुसीबतों का साया जरूर पड़ता है,
खड़ी रहती है सारी दुनिया उसी जगह पर
आगे वही बढ़ता है जो मेहनत करता है।

15.

कोई आवाज नहीं पहुँचती है खुदा तक
और हर उम्मीद साथ छोड़ देती है,
ऐसे वक़्त में इंसान का हौसला और
उसकी मेहनत उसकी तकदीर बदल देती है।

16.

बिन मेहनत कोई फल नहीं मिलता
बैठे-बैठे प्यासे को जल नहीं मिलता,
खाए हों धक्के जिस इंसान ने अपनी जिंदगी में
वो कभी भी कम अक्ल नहीं मिलता।

17.

इम्तिहान लेता है सब्र भी
सिर्फ मेहनत से काम नहीं चलता,
बनाना पड़ता है एक अरसे तक अपना रुतबा
यूँ ही किसी का काम नहीं चलता।

18.

पाँव जमीं पर और ख्वाब
आसमान के रखना
बदल देना किस्मत अपनी
सफलता का स्वाद मेहनत से चखना।

19.

किस वक़्त का करे इंतजार तू
मेहनत से बनता हर काम,
संवर जाती है जिंदगी
फिर मिलता है आराम।

20.

जज़्बात और हालात जान फूंक देते हैं
मेहनत और मोहब्बत में,
फिर हर सिरफिरे की दास्तान
ये जमाना गाता है।

पढ़िए :- कामयाबी पर बेहतरीन शायरी

आपको यह ‘ मेहनत पर शायरी ‘ शायरी संग्रह कैसा लगा? हमें अवश्य बतायें। हमें आपकी प्रतिक्रियाओं का इन्तजार रहेगा। धन्यवाद।

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

Sandeep Kumar Singh

Sandeep Kumar Singh

ये कविताएं, शायरियां और कुछ विचार मेरी खुद की रचनाएं हैं। कुछ नकलची बंदरों ने इन्हें चुरा कर अपने ब्लॉग पर डाल लिया है। असली रचनाएं यहीं हैं। आशा करता हूँ कि यदि आप ये रचनाएं कहीं शेयर करते हैं तो हमारे ब्लॉग का लिंक साथ मे जरूर दें। मैं एक अध्यापक हूँ और अपने इस ब्लॉग क लिए खुद ही लिखता हूँ। धन्यवाद।

You may also like...

2 Responses

  1. संदीप कहते हैं:

    मेहनत ही है जो किस्मत बदलती है!
    फिर चाहे वह छोटी हो या बड़ी हो!
    मेहनत के आगे किस्मत को बदलना ही है!

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *