कामयाबी की कविता :- उन्हीं के किस्से आम होते हैं | संघर्षरत लोगों को समर्पित कविता

ये कामयाबी की कविता उन लोगों को समर्पित है जो समझ की परवाह न करते हुए एक अलग ही राह चुनते हैं और सफल हो कर एक नया इतिहास रच देते हैं। इस दौरान उन्हें कई परेशानियों से गुजरना पड़ता है। मगर वो कामयाबी ही किस काम की जो आसानी से मिल जाए। तो आइये पढ़ते हैं अलग सोच रखने वाले लोगों को समर्पित ‘ कामयाबी की कविता ‘ :-

कामयाबी की कविता

कामयाबी की कविता

जो सोचते हैं अलग दुनिया से
जिनके अलग काम होते हैं,
उन्हीं को मिलती है कामयाबी
उन्हीं के किस्से आम होते हैं।

भरे होते हैं हौसलों से
चाहे कितना भी बुरा वक्त हो
उफ़ तक नहीं करते
चाहे हालात कितने भी सख्त हों,
सपने करते हैं साकार
चाहे सौ बार नाकाम होते हैं
उन्हीं को मिलती है कामयाबी
उन्हीं के किस्से आम होते हैं।

जब चलती है आंधियां
तबाही के तूफ़ान चलते हैं
ऐसी ही घडी में
दिल में कुछ अरमान पलते हैं,
जिनकी जिंदगी के सभी पल
फिर उसी अरमान के नाम होते हैं
उन्हीं को मिलती है कामयाबी
उन्हीं के किस्से आम होते हैं।

ढूंढते हैं जो अवसर अक्सर
अपनी परेशानियों में
शामिल हो जाते हैं वो
शोहरत की कहानियों में,
आगाज़ कैसे भी हों
बेहतर उनके अंजाम होते हैं
उन्हीं को मिलती है कामयाबी
उन्हीं के किस्से आम होते हैं।

नहीं माने जो हार भले
कितनी ही बड़ी मुसीबत हो
बस बढ़ना है हमको आगे
सबको यही नसीहत हो,
मजबूरी में भी जो कभी
न किसी के गुलाम होते हैं
उन्हीं को मिलती है कामयाबी
उन्हीं के किस्से आम होते हैं।

वही रचते हैं इतिहास नया
दुनिया में जाने जाते हैं
उनके जीवन के बारे में
उनके दीवाने गाते हैं,
गुजरते हैं जहाँ से वो
वहीं लोगों के सलाम होते हैं
उन्हीं को मिलती है कामयाबी
उन्हीं के किस्से आम होते हैं।

पढ़िए :- सफलता पर कविता

आपको ‘ कामयाबी की कविता ‘ कैसी लगी? अपने विचार हमें कमेंट बॉक्स में लिख कर अवश्य बताएं।

धन्यवाद।

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!

हमारे सब्सक्रिप्शन पालिसी जानिए या अपना सब्सक्रिप्शन अपडेट कीजिये।

Sandeep Kumar Singh

Sandeep Kumar Singh

ये कविताएं, शायरियां और कुछ विचार मेरी खुद की रचनाएं हैं। कुछ नकलची बंदरों ने इन्हें चुरा कर अपने ब्लॉग पर डाल लिया है। असली रचनाएं यहीं हैं। आशा करता हूँ कि यदि आप ये रचनाएं कहीं शेयर करते हैं तो हमारे ब्लॉग का लिंक साथ मे जरूर दें। मैं एक अध्यापक हूँ और अपने इस ब्लॉग क लिए खुद ही लिखता हूँ। धन्यवाद।

You may also like...

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *