हौसला बढ़ाने वाली प्रेरक कविता:- मजबूत हौसला और चट्टान सी मुसीबतें

मुसीबतें किसके जीवन में नही आती? मुसीबतें हमारे जीवन का एक अभिन्न भाग है। कुछ लोग मुसीबतों का सामना नही कर पाते। कुछ लोग सामना करते है, और थक कर बीच में ही हार मान लेते है। जबकि कुछ लोग कभी हार नही मानते और मुसीबतों से तब तक लड़ते रहते है, जबतक वो जीत ना जाये। बस उन्ही लोगो से प्रेरित हौसला बढ़ाने वाली कविता हम लाये है।

ये उत्साह वर्धक और प्रेरणादायक कविताएँ आपका हौसला भी बढ़ाएगी, और कर्म करने की प्रेरणा भी देंगी।

हौसला बढ़ाने वाली प्रेरक कविता


१.  प्रेरक कविता: मजबूत हौसला

हौसला बढ़ाने वाली प्रेरक कविता

कमज़ोर दिल हैं वो,
जो सहारों की तलाश करते हैं,
बैसाखियाँ बना बहानों की
मदद की फरियाद करते हैं।

टूट कर बिखर जाते हैं
अकसर ठोकरों से,
जो बता खुद को मजलूम
बर्बाद किया करते हैं।
गर जीना है शान से
तो सीना तान ले,
कर मज़बूत हौंसला
काबिलियत अपनी पहचान ले।

ऊंचाइयों पर जाने वालों का
ये दुनिया इस्तकबाल करती है,
पहुँच जाए जो बुलंदियो पर
ए “गुमनाम”
ये झुक-झुक कर
सलाम करती है।

ये भी पढ़िए- अगर-मगर | भूत की गलतियाँ सुधार भविष्य बनाने की एक प्रेरणा


२.  कर्म की प्रेरणा देती कविता: चट्टान सी मुसीबतें

कर्म की प्रेरणा देती कविता: चट्टान सी मुसीबतें

चट्टान सी खड़ी रही मुसीबतें,
मैं सागर की लहरें बन टकराता रहा।
कठोर छाती ढकेल देती वापस मुझे,
बटोर हिम्मत मैं बार-बार वापिस आता रहा।

धूल धुल गई जब सच के आइने से,
मेरी कोशिशों का असर रंग दिखाता रहा।
टूट रहा था वो पत्थर भी धीरे-धीरे,
साध निशाना मैं वार हर बार बरसाता रहा।

बिखर रहा था वो इस चोट से ज़र्रा-ज़र्रा,
देख साहिल मैं उस पार रास्ता बनाता रहा।
कट गया पत्थर मेरी रुकावटों का,
धुन उमंग के गीतों की मैं गाता रहा।
चट्टान सी खड़ी रही मुसीबतें
मैं सागर की लहरें बन टकराता रहा।

पढ़िए: मंजिल की और बढ़ने की प्रेरणा देती छोटी कविताएँ

ये हौसला बढ़ाने वाली प्रेरक कविता आपको कैसी लगी, हमें जरुर बताये।

धन्यवाद।

आगे क्या है खास:

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक और शेयर करे..!
Sandeep Kumar Singh

Sandeep Kumar Singh

बस आप लोगों ने देख लिया जीवन धन्य हो गया। इसी तरह यहाँ पधारते रहिये और हमारा उत्साह बढ़ाते रहिय्रे। वैसे अभी तो मैं एक अध्यापक हूँ साथ ही इस अपने इस ब्लॉग क लिए लिखता हूँ। लेकिन मेरे लिए महत्वपूर्ण है आप लोगों के विचार। अपने विचार हम तक अवश्य पहुंचाएं। जिससे हम उन पर काम कर के आपकी उम्मीदों पर खरे उतर सकें। धन्यवाद।

You may also like...

13 Responses

  1. vikas says:

    When I read this …… it’s like this poem attach me to my world really it’s good and it help those people’s who lost their staved. ..

    • Mr. Genius Mr. Genius says:

      Thanks Vikas bro….. we will try to write more like this….your comment is precious to us….people like you motivate us to write motivational ideas….

  2. Raj Kishor prasad says:

    Very good

  3. Naman says:

    Mujhey aapki kavitayein bahut hi pasand hain.

    • बहुत शुक्रिया आपका Naman जी अपनी राय देने के लिए। ये हमारी खुशकिस्मती है जो आप जैसे पाठक इन कविताओं को अपना प्यार देते हैं। और रचनाएं पढ़ने के लिए हमारे साथ बने रहिये। धन्यवाद।

  4. योगेन्द्र सक्सेना says:

    संदीप जी, नमस्कार
    आपकी कविताएँ बहुत सुन्दर लगी मन प्रसन्न हो गया। इतनी सुन्दर रचनाओं के लिए धन्यवाद
    योगेन्द्र सक्सेना (नोएडा)

    • धन्यवाद योगेंद्र सक्सेना जी…मुझे खुशी है कि हम आप जैसे पाठकों को अपनी रचनाओं से संतुष्ट कर पा रहे हैं।

  5. Ishank says:

    very inspirational. thanks to author

  6. Ashis raj says:

    This poem change my life thanks for this

    • Sandeep Kumar Singh Sandeep Kumar Singh says:

      Ashish Raj ji we are feeling very happy that our writing is able to change someone's life…Keep reading more motivational things on our website…

  7. Tazeem adeeb says:

    Yaro dil ko tar tar kardi ye aap ki kavita ne

Leave a Reply

हमें ख़ुशी है की हमारे लेख के बारे में आप अपने विचार देना चाहते है, परन्तु ध्यान रहे हम सारे कमेंट को हमारे कमेंट पालिसी के आधार पर स्वीकार करते है।