Category: Rishto Pe Kavitaayen

माता पिता पर दोहे का पहला संग्रह

माता पिता पर दोहे का पहला संग्रह – माता पिता के सम्मान व सेवा में समर्पित By संदीप कुमार सिंह

‘ दोहे ‘ एक ऐसा शब्द जिसका नाम सुनते ही मन में कबीरदास और रहीम जी का नाम आ जाता है। उनके दोहे जीवन की सच्चाई को इतनी सरलता से बयां करते हैं इसके...

maa par shayariyaan

माँ पर शायरी संग्रह – शायरी माँ के लिए By संदीप कुमार सिंह | Maa Quotes In Hindi

“माँ ” एक शब्द जिसमें सारा संसार व्याप्त है। संसार को चलाने वाली, बच्चों के लिए संसार से लड़ आने वाली, अपनी हर संतान को बराबर प्यार देने वाली, एक इन्सान की पहली गुरु।...

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर कविता | बेटी के महत्व पर कविता

भगवान ने जब श्रृष्टि बनायीं तो श्रृष्टि को बढाने और उसके पालन पोषण के लिए नारी बनायीं। इस हिसाब से एक औरत, एक बेटी, एक बहन और ऐसे ही नारी जाती से जुड़े और...

Maa ki yaad me kavita

माँ की याद में कविता – तू लौट आ माँ | हिंदी कविता माँ के लिए

‘माँ’ एक ऐसा शब्द जिसकी परिभाषा देने की कोशिश तो कई लोगों ने दी है लेकिन माँ की परिभाषा इतनी बड़ी है कि उस पर जितना भी लिखा जाए कम है। हम सब अपनी...

pita-par-shayari

पिता पर शायरी | पिता को समर्पित शायरी संग्रह By संदीप कुमार सिंह

प्रिय पाठकों, पिता से संबंधित इस शायरी संग्रह का अर्थ यह नहीं कि मेरे मन में ‘माँ’ के प्रति प्रेम-भाव नहीं है। ऐसा मैं इसलिए कह रहा हूँ क्योंकि कुछ दिन पहले मुझे मेरे...

शायरी दोस्ती की By संदीप कुमार सिंह | हिंदी शायरी संग्रह – 9

जिंदगी में सभी रिश्तों का अपना ही एक महत्त्व है। लेकिन एक ऐसा रिश्ता है जिसमे हर रिश्ते का समावेश होता है। वो रिश्ता है दोस्ती। इस रिश्ते के महत्त्व को समझते हुए हमने...