Category: Rishto Pe Kavitaayen

नानी पर कविता – नानी की तारीफ की कविता

जिंदगी में हम अपने आस-पास कई लोगों को देखते हैं। उम्र के अलग-अलग पड़ाव में उनके चेहरों की अवस्था बदलती रहती है। लेकिन हमारे नाना-नानी और दादा-दादी के चेहरे, जो हम बचपन में...

गजल माँ के लिए

गजल माँ के लिए :- माँजी, अम्मा, आई, माँ | माँ पर गजल हिन्दी मे

ये ” गजल माँ के लिए ” हमें भेजी है छत्तीसगढ़ से अमित शर्मा जी ने। इनकी रचना ” माँ पर कविता इश्क़ु अंदाज में ” हम प्रकाशित कर चुके हैं। जिसमे उन्होंने कविता...

माँ पर कविता इश्क़ु अंदाज में

माँ पर कविता इश्क़ु अंदाज में | इश्कु, कविता का एक दिलचस्प अंदाज

साहित्य में कुछ नया आता है तो दिल को एक अलग सी ख़ुशी का अनुभव होता है। जैसे कुछ महीने पहले हमने आपके सामने माता-पिता पर दोहे रचना पेश की थी। जो कि...

पिता को श्रद्धांजलि :

पिता को श्रद्धांजलि :- पिता की याद में पिता पर कविता

माँ की महिमा का वर्णन तो सारा जहान करता है लेकिन पिता के कर्त्त्वयों का गुणगान कोई-कोई ही करता है। अक्सर पिता के रहते शायद किसी को उनकी कही बात बुरी लग जाती...

न जाने कहाँ तू चली गयी माँ :- माँ की याद में मार्मिक कविता

इंसान को जीवन देने वाली माँ ही होती है। उसके जीवन को आधार  देने वाली भी माँ ही होती है। एक माँ का दर्जा किसी इन्सान के जीवन में भगवान् से कम नहीं...