एक अद्भुत कलाकार :- ईश्वर की महिमा बयां करती हिंदी कविता

यह कविता है एक ऐसे कलाकार के बारे जिसे कोई नहीं देख सकता लेकिन उसकी रचना को सब देख सकते हैं। उसके पास ऐसी कला है कि वो कुछ भी बना और मिटा सकता है। वो मिट्टी में जान फूंक देता है और किसी को भी मिट्टी में मिला देता है। उसकी शक्ति और महिमा दोनों ही अपरम्पार हैं। उसके लिए कुछ भी असंभव नहीं है। वो हमारा जन्मदाता है वही हमारी हर जरूरत को पूरी करता है। संसार में हमारा जन्म भी उस कलाकार को पाने और उसे जानने के लिए होता है। आइये जानते हैं उस अद्भुत कलाकार के बारे में जो सारी कलाओं का ज्ञाता है कविता ‘ एक अद्भुत कलाकार ‘ में :-

एक अद्भुत कलाकार

एक अद्भुत कलाकार

नैन दिए जग देखन को
और मन को इसका सार दिया
दिए हैं उसने रिश्ते नाते
और प्यार की खातिर परिवार दिया,
दिया है जिसने नील गगन ये
और जिसने रचा संसार है
सर्वव्यापी और अनदेखा है
वो एक अद्भुत कलाकार है।

आदि न उसका अंत है कोई
न ओर न कोई छोर ही है
फिर भी उसके हाथों में
सब के जीवन की डोर है,
कर न सके जो कोई
वो करता चमत्कार है
सर्वव्यापी और अनदेखा है
वो एक अद्भुत कलाकार है।

आज भी है वो कल भी होगा
समय के इस पल-पल में होगा
वायु, मेघ और वर्षा क्या है
वो थल में और जल में भी होगा,
रूप न उसका रंग है कोई
न कोई आकार है
सर्वव्यापी और अनदेखा है
वो एक अद्भुत कलाकार है।

मिलता समर्पण त्याग से है वो
प्रेम के बजते राग में है वो
मिल जाता है हर शख्स में वो
मिलता किसी को वैराग्य से है वो,
वही उद्देश्य है जीवन का
वही मिटाता हर अन्धकार है
सर्वव्यापी और अनदेखा है
वो एक अद्भुत कलाकार है।

माने न जो उसके दिए को
बड़ा बताये अपने किये को
पाप करे और सब को सताए
हर वस्तु पे अपना हक़ जो जताए,
आता है वो फिर धरती पर
जब बढ़ता अत्याचार है
सर्वव्यापी और अनदेखा है
वो एक अद्भुत कलाकार है।

उसकी छूटी माया है
जिसने तुझको पाया है
भटक रहा है ये जग न जाने
वो तुझको पाने आया है,
होती उसकी नजर है जिस पर
होता उसका बेड़ा पार है
सर्वव्यापी और अनदेखा है
वो एक अद्भुत कलाकार है।

पढ़िए :- मत बांटो इंसान को :- भारतीय समाज पर कविता

आपको यह कविता ‘ एक अद्भुत कलाकार ‘ कैसी लगी? अपने विचार हम तक अवश्य बतायें। हमे आपकी प्रतिक्रियाओं का इन्तजार रहेगा। धन्यवाद।

ये रचनाएँ भी पढ़े..



अच्छा लगा? तो क्यों ना लाइक सब्सक्राइब करे..!

हमारे ऐसे ही नए, मजेदार और रोचक पोस्ट को अपने इनबॉक्स में पाइए!

We respect your privacy.

Sandeep Kumar Singh

बस आप लोगों ने देख लिया जीवन धन्य हो गया। इसी तरह यहाँ पधारते रहिये और हमारा उत्साह बढ़ाते रहिय्रे। वैसे अभी तो मैं एक अध्यापक हूँ साथ ही इस अपने इस ब्लॉग क लिए लिखता हूँ। लेकिन मेरे लिए महत्वपूर्ण है आप लोगों के विचार। अपने विचार हम तक अवश्य पहुंचाएं। जिससे हम उन पर काम कर के आपकी उमीदों पर खरे उतर सकें। धन्यवाद।

शायद आपको ये भी पसंद आये...

अपने विचार दीजिए:

Your email address will not be published. Required fields are marked *