Author: ApratimGroup

बेटी पर मार्मिक कविता

बेटी पर मार्मिक कविता :- बेटी बिन अधूरा संसार और मासूम बेटी की पुकार

समाज में औरतों की कम होती संख्या मानव जीवन के लिए एक बहुत बड़ी समस्या बन सकती है। सोचिये क्या एक समाज बिना औरत के आगे बढ़ सकता है? क्या ये संभव है...

विद्यार्थी जीवन के कटु सत्य

विद्यार्थी जीवन का कटु सत्य :- त्रासदी मानसिक तनाव की

मानव जीवन की भूमिका बचपन है तो वृद्धावस्था उपसंहार है। युवावस्था जीवन की सर्वाधिक मादक व ऊर्जावान अवस्था होती है। इस अवस्था में किसी किशोर या किशोरी को उचित अनुचित का भलीभांति ज्ञान...

भगवद् गीता पेन से

भगवद् गीता पेन से, मधुशाला सुईं से, गीतांजलि मेहन्दी कोन से लिखी

जिंदगी एक हादसों भरा सफ़र है। कई बार ये हादसे एक इंसान की जिंदगी बदल देते हैं। बदलाव कैसा होता है ये उस इन्सान पर निर्भर करता है जिसके साथ ये हादसा हुआ...

गजल माँ के लिए

गजल माँ के लिए :- माँजी, अम्मा, आई, माँ | माँ पर गजल हिन्दी मे

ये ” गजल माँ के लिए ” हमें भेजी है छत्तीसगढ़ से अमित शर्मा जी ने। इनकी रचना ” माँ पर कविता इश्क़ु अंदाज में ” हम प्रकाशित कर चुके हैं। जिसमे उन्होंने कविता...

nani ka ghar kavita

नानी का घर :- नानी के घर बीती बचपन की यादों की हिंदी कविता

पहले जब संयुक्त परिवार मे ढेर सारे बच्चे होते थे तो रिश्ते भी कई तरह के होते थे जैसे – मामा, मौसी , आदि के बच्चो के साथ छुट्टियों मे नानी के घर...

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.